टिटनेस (Tetanus) क्या है? टेटनस होने का कारण, लक्षण, परिणाम और चिकित्सा

टिटनेस (Tetanus) क्या है? टेटनस होने का कारण, लक्षण, परिणाम और चिकित्सा (Treatment) के बारे में जानिए | इस लेख में टिटनेस से सावधान रहने की बात भी बताई गयी है|

गाँव-शहर में लगभग सभी लोग टिटनेस का नाम सुने होंगे . क्यूंकि इससे होने का कारण हर व्यक्ति के जीवन से गुजरता है | किसी भी व्यक्ति को जंग लगे किसी औजार से कहीं कट जाये, फट जाये या चोट लगने पर तुरंत टिटनेस का इंजेक्शन लगवा लेना बुद्दिमानी की काम होती हैं | टेटनस एक जानलेवा कारण भी बन सकता है इसीलिए आइये जानते है टिटनेस क्या है ? और इसका उपचार कैसे करे |

Tetanus Treatment hindi
Tetanus Treatment hindi

टिटनेस क्या है? What Is Tetanus In Hindi

टिटनेस तभी होगा जब मनुष्य क्लोसट्रिडियम टेटानी नाम के बैक्टीरिया के संपर्क में आता है | जब किसी व्यक्ति को वैसे जगह पर चोट लगता है या कहीं कट जाता है जहां जंग लगा हो | टिटनेस जीवाणु गन्दगी या जंग लगी पदार्थो से संकर्मन रोग के लिए अधिकतर प्राणघातक होता है |

शरीर में लगा चोट, खरोच, या घाव जब बैक्टीरिया के संपर्क में आता है तो टेटनस जैसी बीमारी होने की संभावना बढ़ जाता है | इससे जबड़ो का आपस में भींच जाना, दौरे पड़ना, श्वास्नीय ऐठन पड़ना, सार्वदैहिक पेशीय ऐंठन हो जाते है |

Due To Tetanus Outbreak – टिटनेस फैलने के कारण

Tetanus फैलने वाला जीवाणु का नाम क्लोसट्रिडियम टेटानाई है जिसके कारण टिटनेस होता है | टिटनेस उस समय में भी Fail सकता है जब बच्चा दूषित पदार्थ या जंग लगी औजार से हाथ पैर में चोट लगा लेता है या कही काट लेता है |

जब किसी महिलाएं को प्रसव कराया जाता है तो नवजात शिशु की नाल दूषित औजार (जंग लगा) से कटी जाये तो इन सभी बीमारी की संभावना बढ़ जाती हैं | किसी भी महिलाओं को प्रजनन अंगो में गहरी चोट दूषित औजार से लगने पर भी इस तरह की परेशानियाँ हो सकती है |

अगर कभी माँ – बहने किसी बच्चे का कान पिन, माचिस, दूषित औजार  से साफ करें और कहीं चोट लग जाये या वैसे बच्चे हो जिसका कान बहता हो उस स्थिति में परेशानी आ सकती है |

टेटनस के लक्षण – Tetanus Symptoms

इस रोग का काल दो सप्ताह तक होता है | रोगी के शरीर में मांसपेशियों में अकडन ऊपर की निचे की ओर बढती है | इसी प्रकार टाक्सिन तंत्रिका तंत्र में हमेशा निचे की ओर बढ़ता है |

“टिटनेस के लक्षण” में बार-बार पेशाब आना भी एक मात्र लक्षण है | जो रोगी टिटनेस से संक्रमित है उनके हड्डियों में फ्रैक्चर होने की संभावना बढ़ जाती हैं | अगर समय पर इलाज नहीं कराया जाये तो जबड़े भी जाम होने लगता है |

इससे संक्रमित रोगी का जल्दी मुँह नहीं खुलता है इसीलिए उन्हें खाने – पिने या निगलने में बहुत कठिनाई होती है | जिस किसी में यह लक्षण पाया जाता है उस व्यक्ति का शरीर पीठ की ओर धनुष के सामान मुड जाता है |

इसी प्रकार मनुष्य के ह्रदय की गति और उच्च रक्तचाप बढ़ जाता है | सांसे अधिक तेज चलने लगती है जिसके कारण मृत्यु भी आ सकती है |

टिटनेस के प्रकार

मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे टिटनेस है? How Do I Know If I Have Tetanus?

(1.) शिशुओं में होनेवाला टेटनस

इस प्रकार का टिटनेस बच्चे की नाभि या घाव को नहीं सूखने के कारण भी हो सकता है | इसीलिए गर्भवती को टीकाकरण समय पर करा देना ही चाहिए |

(2.) लोकल टिटनेस – Local Tetanus

जब रोगी को कहीं चोट या कट जाता है तो लगतार ऐंठन होने लगती हैं यह ऐंठन लगभग दो हप्तो तक हो सकता है |

(3.) कैफेलिक टिटनेस – Kafelic Tetanus

अगर किसी किसी व्यक्ति के सर पर गंभीर चोट लग जाये तो कान या मुँह के भाग प्रभावित्त होती है तो  कैफेलिक टिटनेस होने की खतरा बना रहता है |

(4.) जेनरलाइज्ड टिटनेस – Generalized Tetanus

इस टिटनेस में लगभग सभी लक्षण दिखाई देता हैं | खाने – पिने या निगलने में बहुत कठिनाई होना | रोगी के शरीर में मांसपेशियों में अकडन | जल्दी मुँह नहीं खुलना | ब्लड प्रेशर, बुखार , हमेशा पसीना होना , मुँह की मांसपेशियों में जकडन, ह्रदय की गति तेज होना तय है |

चिकित्सा – Treatment

ऊपर में बताये गए लक्षण पाये जाने के तुरंत बाद रोगी को अस्पताल में भर्ती करना चाहिए | रोग से बचाव के लिए तुरंत टिटनेस टक्साइड का टिका लगवाना चाहिए | रोगी को हमेशा शांत जगह पर रखना चाहिए |

टिटनेस के रोगी को बचाने के लिए एक मात्र टीकाकरण (Tetanus Treatment) ही है जिसको Dtap, Tdap, Dt, Td लगाने से संभवत रोगी ठीक हो सकता है | इसीलिए कम उम्र के बच्चो को सरकार ने टिका लगाने की पहल भी की है और बूस्टर टिका हर व्यस्क व्यक्ति को (Tetanus Vaccine) लगवाना चाहिए |

इस लेख में टिटनेस (Tetanus) क्या है? टेटनस होने का कारण, लक्षण, परिणाम और चिकित्सा के बारे में पूर्ण जानकारियां शेयर किया गया है | अगर आप बताये गए लक्षण से परेशान है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें |


इसे भी पढ़ें |

कंप्यूटर विंडोज इनस्टॉल कैसे करें?

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (South East Central Railway) के तहत ट्रेड अपरेंटिस हेतु भर्ती 2020-21

टॉकबैक (Talkback) क्या होता है ? और इसका यूज कैसे करें

कॉन्टेक्ट्स नंबर, को ऑनलाइन सेव कैसे करें?

ऑनलाइन बजाज फाइनेंस सिबिल स्कोर (Cibil Score) चेक कैसे करें?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top