हिस्टीरिया रोग के लक्षण तथा उपचार

Hysteria Rog Kya hai ? हिस्टीरिया रोग के लक्षण तथा उपचार (हिस्टीरिया रोग का नाम लेने के बाद शरीर में कम्पन सी हो जाती है | रोग कोई भी हो परेशानी के आलावा कुछ नहीं मिलता है | )

अगर आप भी hysteria Rog के बारे में जानना चाहते है तो इस आर्टिकल को पढना न भूले | शायद आपको कुछ जानकरियां मिल जाये |

Hysteria Rog Kya hai ? हिस्टीरिया रोग के लक्षण व उपचार

हिस्टीरिया रोग महिलाएँ में होनेवाला आम बीमारी है | यह रोग 15 से 20 साल के युवतियों में होने लगा है | इसे आप स्त्रियों में होनेवाला दिमागी रोग भी कह सकते है |

काली खांसी के बारे में सरल जानकारी

सौफ के सेवन से स्वास्थ्य को लाभ कैसे पहुचाये

हिस्टीरिया रोग के लक्षण

युवतियां में हिस्टीरिया रोग होने का अनेक लक्षण हैं | कम उम्र में लड़कियों को प्यार में धोखा मिलना | , कुछ लड़कियाँ चलते – चलते गिर जाती है | अचानक बेहोसी के हालत में होना | , कुछ लड़कियाँ बिना हसी के हंसने लगती है | वो अपने शरीर में अजीब सी महसूस करने लगती है | कुछ युवतियाँ  अपने शरीर या दिमाग पर काबू नही कर पाती है |

Hysteria rog kya hai

हिस्टीरिया रोग का उपचार

Hysteria kya hai जानने  के बाद लक्षण और उपचार के बारे में समझ गए होंगे |

कभी – कभी युवतियाँ अकेले में हंसने लगती है | उसे भी पता नहीं होता है वह क्यूँ हंस रही है | कभी गुस्सा का आना तो कभी हंसने लगना | हिस्टीरिया बीमारी का मुख्य संकेत है | इसके लिए क्रोकस- सैटाईवा औषधि दी जा सकती है |

कुछ स्त्रियाँ हँसते हुए रोने लगती है तो कुछ को बीमारी जैसा अनुभव होने लगता है | जिस तरह से बुखार आने पर ठंढ महसूस होती है उसी प्रकार ठंड नहीं होने के बाद भी ठंड लगने का अनुभव करती है | इस तरह का लक्षण होने पर ऐकिट्या-रेसीमोसा औषधि का यूज कर सकते है |

इसी तरह से अन्य घरेलु उपचार जानने के लिए वेबसाइट हिंदी पर कमेन्ट करें | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.