pregnant woman

How to maintain a pregnant woman गर्भवती महिला के देखरेख कैसे करें

pregnant woman गर्भवती महिला के देखरेख कैसे करें – गर्भवस्था के दौरान औरत को देखरेख करने से संबंधित जानकारी दी गई है |

हमारे देश में लड़कियों के पालन पोषण पर कम ध्यान दिया जाता है | जिसके कारण वह गर्भवस्था के पहले ही कुपोषण के शिकार हो जाती है , जो गर्भकाल में और तेजी से बढ़ जाता है | गर्भकाल के दौरान यह सुनिश्चित करना चाहिए की उनके भोजन में प्रयाप्त प्रोटीन , वसा , विटामिन और खनिज तत्व हो |

इसके लिए उन्हें मांस , अंडे , मछली , लीवर , दूध , मिश्रित दाल , राजमा , दही पनीर आदि खाने की सलाह दे सकते है | इनके अलावा फल और हरी पत्तेदार सब्जियाँ , विटामिन और खनिज तत्व के बेहतरीन स्त्रोत है | इसके सेवन से रेशा भी मिलता है | जो गर्भकाल में उत्पन्न कब्ज को कम करने में सहायक है |

माँ के दूध और बोतल के दूध में अंतर जानिए

इसके अलावा अलग से आयरन , फोलिक एसिड तथा कैल्सियम की गोली भी देनी चाहिए ताकि बच्चे का विकास हो सके |

pregnant woman गर्भवती महिला के देखरेख कैसे करें

गर्भवती महिला को निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना आवश्यक है |

व्यक्तिगत स्वच्छता

औरत को गर्भ रहने पर हमेशा अपने त्वचा को साफ – सुथरा रखना चाहिए | वह प्रतिदिन स्नान भी कर सकती है | गंदे वस्त्र को बदलकर साफ – सुथरा वस्त्र पहनना चाहिए | गर्भवस्था के दौरान अपने स्तनों और उसके आसपास के भाग को साफ रखना बहुत जरुरी है |

इसके अलावा अन्तर्वस्त्र भी आरामदेह और साफ – सुथरी हो | इन सभी बातों पर अत्यधिक ध्यान देना जरुरी है |

गर्भकाल में काम करने के तरीके

जैसा की हम जानते है इस अवस्था में औरत को बच्चे का बोझ ढोना होता है | गर्भवस्था में महिला को हलके काम करने चाहिए | भारी वास्तु को कभी न उठानी चाहिए | लम्बी यात्राओं से बचना चाहिए | घुड़सवारी तथा भारी व्यायाम न करें |

गर्भकाल में व्यायाम

गर्भवस्था के दौरान महिला को मनोरंजन तथा हल्का – फुल्का व्यायाम करना जरुरी है , इससे प्रसव के दौरान आसानी होती है |

गर्भवती को आराम

आजकल के भागदौड़ में बहुत सी महिलाये गर्भवती होने पर जिंदगी से खिलवाड़ करती है | वह आराम करना ही भूल जाती है | एक गर्भवती महिला को रोज कम से कम 8 घंटे सोना जरुरी है , जिसमे से 2 घंटे दोपहर के समय हो सकता है |

जब भी महिला आराम करे उस समय कोई अवरोध या व्यवधान न आये | सोने का कमरा हवादार होना चाहिए |

गर्भवती महिला को जानने योग्य बातें |

बताये गए निम्नलिखित लक्षण होने पर तुरंत चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए |

  1. पेट में अधिक दर्द होने पर
  2. रक्तस्त्राव
  3. पेशाब में जलन और दर्द होना
  4. सिर दर्द तेज होने पर
  5. आँखों में धुंधलापन या कम दिखाई देना
  6. चेहरे पर सुजन या भारीपन
  7. योनी – स्त्राव
  8. गर्भस्थ शिशु का कम या न हिलना डुलना
  9. बुखार या ठण्ड लगना
  10. लगातार उलटी होना

गर्भवती महिला (pregnant woman ) को ऊपर बताये हुए जानकारी को हमेशा पालन करना चाहिए | इससे उन्हें परेशानी बहुत कम होगी और वह एक अच्छे शिशु को जन्म दे सकती है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top