nios bridge course 522 assignment 2

Nios Bridge course 522 Assignment 2 Question 1 With Answer

Nios Bridge course 522 Assignment 2 Question 1 With Answer अधिगम के धार्मिक , सांस्कृतिक और सामाजिक पक्ष क्या है ? एक शिक्षक के नाते आप अनुकूल अधिगम वातावरण के निर्माण हेतु इनका उपयोग कैसे करेंगे ? अपने स्वयं के अनुभवों के आधार पर व्याख्या कीजिए |

इस पोस्ट में Nios Bridge course 522 Assignment 2 के पहले प्रश्न का उत्तर लाया हूँ इसे आप असाइनमेंट कॉपी में wright कर सकते है |

इस प्रश्न का उत्तर एन.आई.ओ.एस के प्रोग्रामिंग गाइड के अनुसार तैयार किया गया है | अगर कोई गलतियाँ दिखाई दे तो सुधार या बदलाव कर सकते है |

Nios Bridge course 522 Assignment 2 Question 1 With Answer

Q.1) अधिगम के धार्मिक , सांस्कृतिक और सामाजिक पक्ष क्या है ? एक शिक्षक के नाते आप अनुकूल अधिगम वातावरण के निर्माण हेतु इनका उपयोग कैसे करेंगे ? अपने स्वयं के अनुभवों के आधार पर व्याख्या कीजिए |

उत्तर :-  अधिगम के धार्मिक , सांस्कृतिक और सामाजिक

भारत में विभिन्न सांस्कृतिक और धार्मिक क्षेत्र के व्यक्ति एक साथ निवास करते है | अत: भारत एक अनेक्वादी समाज है | यहाँ तक की एक ही धर्म और संस्कृति में ही प्रथाएं और विश्वास एक परिवार में दुसरे परिवार में , एक व्यक्ति में दुसरे व्यक्ति से भिन्न होते है | क्या हम ऐसे भारतीय कक्षा कक्ष की कलपना कर सकते है | जहाँ विविधताएँ और समाज का प्रतिनिधित्व न हो ? निश्चित रूप से नही , व्यक्तियों की इस विविधता का बच्चे के अधिगम पर एक महँ प्रभाव पड़ता है |

प्रत्येक बच्चा जो ये समाज का एक अंग है | वह एक नियत विश्वास या संस्कृति से संबंध रखता है | उसके पास समाज द्वारा स्वीकार्य तथा अस्वीकार्य व्यवहारों और एनी सामाजिक रूप से रचित विचारो के बारे में मूल्य विचार और सोंच होते है | विभिन्न सामाजिक स्तरों सांस्कृतिक और धर्म विश्वासों से संबंधित बच्चो को ये आदर्श अव्यक्त रूप से पढाये जाते है | वे इन्हें धारण करते है और गहरे से अपने मन और मस्तिक से निकट महसूस करते है | ये मूल विचार और अव्ष्ठाये बच्चे के समाजीकरण प्रक्रिया के अंग है | क्यूंकि धर्म और संस्कृति परस्पर जुड़े हुए है | इसीलिए बच्चे के समाजीकरण प्रक्रिया के दौरान वे उनके व्यवहारों में स्पस्ट रूप से दिखाई देते है | कक्षा में या कक्षा के बाहर अधिगम के दौरान वे अपनी भूमिका भी प्रदर्शित करते है | इसका अर्थ है की संस्कृति धर्म और सामाजिक परस्पर क्रिया में अधिगम सन्निहित है |

सामाजिक – सांस्कृतिक सिद्धांत मानता है | की जब हम संस्कृति के अन्य सदस्यों और हमारे पूर्वजों तथा हमारे समकालीन लोगो द्वारा निर्मित कलाकृतियों से प्राप्त विशिष्ट अनुभवों के साथ परस्पर अंतक्रिया करते है | तो मानसिक गतिविधियों के विशिष्ट मानव रूप बनते है | मानसिक और सामाजिक दोनों को अलग न करके यह सिद्धांत इन दोनों क्षेत्रो के बिच सीमारहित और द्विन्दात्मक संबंध पर बल देता है |

concept mapping pdf download

इस सिधांत के अनुसार अधिगम का विकास अधिक ज्ञानी या अधिक प्रवीन व्यक्तियों के साथ सामाजिक अंत क्रिया द्वारा होता है | सामाजिक अन्क्रिया की यह प्रक्रिया ज्ञान की रचना में मध्यस्थ होती है | जो व्यक्ति के विकास का एक ऐसी ढांचा बनती है | जिससे अनुभवों को सार्थक बनाया जा सकता है | यह अनुभव बच्चे के सांस्कृतिक तथ्य के अनुकूल होते है | जिसमे अधिगम प्रक्रिया हो रही है |

अनुकूल वातावरण अधिगम का निर्माण

बच्चे जैसे – जैसे वृद्धि करते है और विकसित होते है | उनका सामना लगातार नई वस्तुओं , नई सूचनाओं और नई अनुभवों से होता है | जो उन्हें अपने वातावरण पर नए ढंग से सोचने और क्रिया करने के लिए दबाव डालते है | अनुकूल एक बिद्धिमता कार्य है | जो उन्हें इन कई मागो – चाहे वे घर स्कूल या खेल के मैदान में हो के पूरा करने का कार्य करते है | दो एनी संपूरक प्रक्रियाए आत्मसात करना एवं समायोजन के परिणाम स्वरुप बच्चे इन कई आवश्यकताओं पर अनुकूल कर पाते है |

शिक्षक के द्वारा वातावरण का निर्माण भी बहुत सुंदर होता है | जो इस प्रकार है |

-) विद्यालय में सभी – कक्षा काश को पढने लायक वातावरण में बदलना |

-) हर तरह से सामाजिक व मुख्य भाष का ज्ञान होना |

-) समावेशी व्यवस्था सुनिश्चित करना

-) शिक्षण – अधिगम सामग्री का व्यवस्था करना |

-) जरुरत पड़ने पर कम जानने वाले बच्चे को अलग से शिक्षा देना |

-) बच्चो के क्षमता के अनुसार शिक्षक को अनुकूल होना |

अधिगम के लिए यह भी जरुरी है |

  1. अधिगम के लिए समय और प्रयास की आवश्यकता होती है |
  2. अधिगम पूर्व ज्ञान के आधार पर होता है |
  3. सिखने वाला मात्र शिक्षार्थी है |
  4. मानव सुचना प्रसंस्करण , वास्तुकारिता और क्षमता की सीमाओं के कारण अधिगम बाधित होता है |
  5. अधिगम अस्थानान्तार्नीय ज्ञज्ञन संरचनाओं का निर्माण करता है |

Nios Bridge course 522 Assignment 2 Question 1 With Answer

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.