भरपूर नींद नहीं लेने के कारण, लक्षण और घरेलु उपचार (नुस्खे)

भरपूर नींद नहीं लेने के कारण, लक्षण और उपचार (How 7 Insomnia Home Remedies Can Increase Your Profit!) जानने के लिए घरेलु नुस्खे पढ़िये | जानिए व्यक्ति को गहरा नींद क्यों नहीं आती है? इस लेख में नींद न आना और नींद में सोने के 7 टिप्स बताएँगे |

आप इस लेख को वेबसाइट हिंदी डॉट कॉम पर पढ़ रहें है | ज्यादा देर तक सोना या बिलकुल नींद नहीं आने से शरीर पर बहुत ज्यादा नुकसान होता है | नींद नहीं आने के बहुत सारे कारण होतें है | अगर आप उसे जानना चाहते है तो नींद में सोने के सात प्रॉफिट और नींद नहीं आने के सात कारणों को हिंदी में जानिए – हाउ सेवेन इनसोम्निया होम रेमेडीज कैन इनक्रीस योर प्रॉफिट (How 7 Insomnia Home Remedies Can Increase Your Profit!)

How 7 Insomnia Home Remedies Can Increase Your Profit
How 7 Insomnia Home Remedies In Hindi

नींद न आने के कारण हिंदी में – Reasons For Not Sleeping

स्वस्थ रहने के लिए 8 घंटे नींद लेना बहुत जरुरी होता है | अगर आप गहरी नींद में नहीं सोते है तो अनेक कारण हो सकते है जिसको आपको दूर रहना होगा |

(1.) तनाव और मानसिक समस्याओं के कारण नींद नहीं आती है |

(2.)  अगर आपमें सोने से पहले खराब आदतें है तो आपको भरपूर नींद नहीं आएगी | खराब आदतें जैसे : बेड पर खाना, सोने से पहले देर रात तक मोबाइल (स्मार्टफोन) देखना, देर रात तक टीवी देखना, उतेजक गतिविधि करना इत्यादि | (इसे भी पढ़ें जोड़ों में दर्द की दवा कारण, लक्षण और उपचार हिंदी में !)

(3.) व्यक्ति किसी परेशानी में रहता है जैसे तलाक, बीबी से झगडा, बेरोजगारी तो अधिकतर केस में नींद नहीं आती है | इससे तनाव और मानसिक बीमारी भी बढती है | (इसे भी पढ़ें पेट की आँतों की गंदगी साफ क्यों करें? कारण लक्षण और घरेलु तरीका |)

(4.) सामान्य से कम या अधिक भोजन करने से नींद नहीं आने का सबसे बढ़ा कारण होता है | अगर आप भोजन भरपेट नहीं खायेंगे तो लगेगा की आप खाना ही नहीं खाए है | कुछ लोग स्वादिस्ट खाना देखकर इतना खा लेते है जिससे उनका पेट तन जाता है | इसलिए पेट भारी होने से शरीरिक रूप से असहज महसूस होता है |

(5.) शरीर को अकड़ने, शरीर में दर्द, पाचन तंत्र कमजोर होने से नींद कोसो दूर रहती है | (इसे भी पढ़ें जानिए दांत पीले (Yellow Teeth) क्यों होतें है ? घरेलु उपाय !)

(6.) दिन में सोने से शरीर पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है | जो लोग दिन में सोते है उनको रात में जल्दी नींद (Nind Nahin Aana) नही आती है |

(7.) स्मरण शक्ति कम होना तथा नकरात्मक सोंचने से नींद लेना सहज नहीं है | नींद नहीं आने से गंभीर बीमारी भी हो सकती है |

 

नींद न आना (अनिद्रा) के लक्षण – Symptoms Of Insomnia

(1.) चिडचिडापन और कमजोरी

(2.) थकान महसूस करना |

(3.) स्मोकिंग करना नींद नहीं आने का सबसे बड़ा लक्षण है |

(4.) बार-बार नींद की गोली लेना | (इसे भी पढ़ें आँखों के निचे सूजन से छुटकारा कैसे पाये?)

(5.) बाहर आने जाने से कतराना या लोगो से मिलना बंद कर देना |

(6.) नकारात्मक बातो से सहमत होना |

(7.) शरीर में पोषक तत्व / मिनरल्स की कमी

नींद न आने पर चिकित्सा – How 7 Insomnia Home Remedies Can Increase Your Profit!)

(1.)  रात में 8 बजे तक खाना खाने की कोशिश करें | देर रात तक खाना खाने परहेज करें |

(2.) रात (शाम) को खाना खाने के बाद टीवी, मोबाइल, गेम, गाना सुनना बंद करें | (इसे भी पढ़ें Top 5 Best Android Apps Download In Hindi यह बहुत काम की एप है !)

(3.) पोषक तत्व से भरपूर सामान्य खाना खाने की कोशिश करें | अगर आप ज्यादा भोजन करते है तो आपके शरीर में भारीपन और असहज महसूस होगा | इससे बचने के लिए उतना ही खाना खाए जिससे पेट को आवश्यकता न पड़े | ज्यादा चायनीज और मसालेदार भोजन खाने से परहेज करें | हमेशा सदा खाना खाने की आदत लगाये |

(4.) थकान होने पर नींद आना मुस्किल होता है इसीलिए तलवे और पैर में तेल से मसाज करवाए | इससे जल्दी से रक्त प्रवाह होगा तो नींद की समस्या दूर होगी |

(5.) भरपूर नींद लेने के लिए सोने का कमरा साफ करें | कमरे में कीड़े-फतिंगे का आवाज आती है इसलिए भी कमरा साफ करें | सोने की जगह खुशबूदार बनाने की कोशिश करें | (इसे भी पढ़ें सीआईडी ऑफिसर कैसे बने? पूर्ण जानकरी हिंदी में !)

(6.) योग और भगवान को प्रणाम करने से शरीर में फुर्ती और शांति महसूस होती है | जैसा की आप जानते है योग करने से शरीर निरोग रहता है पर सोने से पहले शवासन, वज्रासन करना ठीक है | आप जिस धर्म में विश्वास रखतें है उस धर्म के भगवान को सोने से पहले प्रणाम करें |

(7.) ज्यादा प्राकृतिक चीजो को अपनाने की कोशिश करें | ज्यादा एयर कंडीशनर (Air Conditioner-Ac), कूलर, पंखा, कृत्रिम रौशनी (बल्ब) में रहने से बचे | इससे शरीर पर अधिक गलत प्रभाव होता है | अगर आप नींद की परेशानी से अधिक परेशान है तो डॉक्टर से परामर्श करें | (इसे भी पढ़ें पांच तरीका से बैंक अकाउंट नंबर पता कैसे करें ? जानिए सरल तरीका |)

नींद की दवा से नुकसान – Loss Of Sleep Medicine

नींद की दवा लेने से फायदा है तो अधिक नुकसान भी झेलना पड़ सकता है |

(1.) एंटी-कोलीनर्जिक (Anti-Cholinergic) युक्त गोलियां तथा नींद की गोलिया लेने से व्यक्ति की यादास्त  कमजोर होने लगती है | सबसे ज्यादा दिमाग पर असर पड़ता है इसीलिए दिमाग पहले के अपेक्षा धीमी गति से कार्य करता है | (इसे भी पढ़ें पीरियड्स में चक्कर क्यों आतें है?)

(2.) नींद की एलोपैथी दवा हर रोज खाने से शरीर पर इतना बुरा प्रभाव पड़ता है की रोगी न होने के वावजूद अन्य बीमारी  के चपेट में आ सकतें है |

(3.) अधिक समय तक लगातार नींद की गोली लेने से ब्लड प्रेशर बनने का खतरा ज्यादा रहता है | जो लोग  नींद की गोली लेते है उनका शरीर अन्य लोगो से फुर्तीला कम होता है | (इसे भी पढ़ें नीम के पत्तियां खाने के फायदे |)

(4.) लगातार वर्षो-महीनो तक नींद की गोली खाने से कई रोगों को जन्म देना | जरुरत के हिसाब से कभी काल नींद की गोली लेना गलत नहीं है पर उसपर निर्भर होना एक बहुत बड़ी चुनौती का सामना करना हो सकता है |

(5.) अगर आप गंभीर बीमारी के चपेट में है तो आपको डॉक्टर से ईलाज करवाना चाहिए | बहुत लोगो को अन्दर से गंभीर बीमारी होती है और वे नींद की गोली खाकर सोने की कोशिश करते है | बिना मतलब के नींद की गोली खाने से अन्य बीमारी भी हो सकती है |

(6.) नींद की गोली लगातार खाने से शरीर में दवा की पॉवर बढाकर खाना पड़ता है क्यूंकि धीरे-धीरे आपके शरीर के सभी पॉवर ख़त्म होने लगते है |

(7.) नींद की गोली खाने से एसेटिलकोलाइन नामक केमिकल ब्लॉक हो होने लगता है | (इसे भी पढ़ें गुटखा तम्बाकू छोड़ने का आसान तरीका हिंदी में |)

 

Conclition

इस पोस्ट में नींद नहीं आने के कारण, लक्षण और 7 सरल घरेलु उपचार (How 7 Insomnia Home Remedies Can Increase Your Profit!) बताया गया है | शरीर को नुकसान देनेवाली तुरंत नींद आने की दवा, पतंजलि अनिद्रा की दवा, अनिद्रा के लिए एलोपैथिक दवा से बचें | प्राकृतिक और घरेलु नुस्खे अपनाकर भी भरपूर नींद ले सकतें है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top