websitehindi channel

जोड़ों में दर्द की दवा कारण, लक्षण और उपचार हिंदी में !

जोड़ों में दर्द की दवा (Jodo Me Dard Ka Karan) लेने से पहले कारण, लक्षण और चिकित्सा (Joint Pain Treatment In Hindi) के बारे में जानिए फिर जोड़ों की दर्द की दवा करा पायेंगे |

आज के समय में हाथ पैर के “जोड़ों में दर्द“से हर व्यक्ति परेशान है | यह समस्या आम होते जा रही है | जवान से लेकर बुढ़ापे में भी तेज दर्द और जलनशील (Joint Pain Treatment In Hindi) का सामना करना पड़ रहा है | परन्तु इन सभी का कारण अनेक है | कई कारणों से आपके शरीर के अंगो में दर्द उत्पन्न होती है |

Jodo Me Dard Ka Karan
Jodo Me Dard Ka Karan

पूरे शरीर में दर्द के कारण – Jodo Me Dard Ka Karan

दर्द जोड़ों में होता हो या मांसपेशियों में सबका कारण स्थिति और रोगों के आधार पर ही बताया जाता है जो इस प्रकार है |

किसी वायरस के कारण संक्रमण फैलाना
चोट, मोच, हड्डियाँ फैक्चर होना |
शराब तम्बाकू का सेवन करने से |
अधिक मात्रा में तला हुआ और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ का सेवन करना |
ऐठन
जोड़ों में स्थित तरलयुक्त थैली की सूजन
गाउट की समस्या यह महिलाओं से अधिक पुरुषों में देखा जाता है |
रीढ़ की हड्डी में गतिविधि होना
ल्यूकेमिया
जोड़ों के आसपास तरल पदार्थ जमा होने से बर्से में सूजन होना दर्द को जन्म देती है |
ऑटो-इम्यून डिसऑर्डर के कारण जोड़ों में सूजन, सूजन और दर्द होना
उपास्थि के टूटने के कारण दर्द होना यह समस्या 40 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में देखा गया है |
हड्डियों का संक्रमण से ग्रस्त होना |
मांसपेशियों और हड्डी को जोड़ने वाले ऊतक की सूजन

 

जोड़ों में दर्द की लक्षण – Jodo Me Dard Ki Lakshan

अगर किसी महिला या पुरुष को गठिया के साथ जोड़ो में दर्द होता है तो इसको समझना उतना ही मुस्किल है . क्यूंकि दोनों में एक ही प्रकार के लक्षण पाये जातें है |

रोगी के जोड़ों में दर्द होना
जहाँ पर दर्द होता है उसके जोड़ों में सुजन होना |
घुटनों में दर्द होने पर चलने-फिरने में परेशानी होना |
जहाँ पर दर्द हो रहा है उस जगह पर लालपन दिखाई देना |
अकडन महसूस करना |
बुढ़ापा में जोड़ों की गतिशीलता में कमी महसूस कारण |
जोड़ों को नरमी होना |
जोड़ों के हड्डियों के आसपास खुजलाने या खुरचने पर दर्द होना |

इसे भी पढ़ें |

छोटी चेचक से छुटकारा (चिकन पॉक्स का इलाज) कारण और लक्षण हिंदी में !

पेट की चर्बी कैसे घटाए घरेलू उपाय | Most Important |

स्तन शोथ (Mastitis) क्या है ? मस्तिटिस के कारण लक्षण और चिकित्सा हिंदी में जानकारी |

जानिए दांत पीले (Yellow Teeth) क्यों होतें है ? घरेलु उपाय !

जोड़ों का दर्द कैसे ठीक करें? – How to cure joint pain In Hindi

दर्द ऐसा परेशानी है की इसके लिए लोग (जोड़ों का दर्द की दवा पतंजलि, पतंजलि जॉइंट पैन मेडिसिन, जोड़ों के दर्द की होम्योपैथिक दवा) सभी प्रकार के उपचार ला प्रयोग कर लेते है फिर भी उन्हें कुछ आराम नहीं मिलता है |

  • अगर आप जोड़ों की दर्द से परेशान है तो एक्सरसाइज आपके लिये मददगार साबित होगा . इसीलिए प्रतिदिन व्यायाम करना अनिवार्य करें |
  • दर्द ठीक करने लिए गर्म और ठंडे सेक का उपयोग करने से हड्डियों और मांसपेशियों का दर्द कम होती है |
  • दर्द निवारक क्रीम जोड़ों पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है |
  • अगर संक्रमण के कारण जोड़ों में दर्द हो रही है तो एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) का प्रयोग जरुर करना सही है |
  • जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द होने पर रहन-सहन और खान-पान में बदलाव करना स्वस्थ के लिए बड़ी चीज है |
  • हर्बल सप्लीमेंट का उपयोग करना चाहिए |
  • हाथ की उंगलियों में दर्द के उपाय मालिश करना बेहतर होता है | जोड़ो या मांसपेशियों पर कुछ समय मालिश करें |
  • सबसे मुख्य है विटामिन प्रयाप्त मात्रा में नहीं मिलना | मनुष्य को ठीक से रहने और दर्द से छुटकारा पाने के लिए उनके शरीर में विटामिन B-1, विटामिन B-2, विटामिन B-3, विटामिन B-6, विटामिन डी, विटामिन ई, विटामिन के और विटामिन 12 होना चाहिए |
  • गठिया जांच के लिए आर.ए
  • बीमारी के मात्रा बताने के लिए टी.एल.सी / डी.एल.सी

 

Conclusion

इस लेख में जोड़ों में दर्द की दवा (Jodo Me Dard Ka Karan) के रूप में कुछ सलाह दिया गया है जिससे रोगी को बहुत कुछ आराम मिल सकता है | अगर आप ज्यादा परेशान है तो जोड़ों के दर्द की होम्योपैथिक दवा या जोड़ों की दर्द की दवा (Jodo Ke Dard Ki Tablet) ले सकते है |

आमतौर पर देखा गया है की घुटनों की दर्द में घरेलु उपाय (Ghutno Me Dard Ka Gharelu Ilaj In Hindi) करने के लिए व्यायाम, रहन- सहन और खान-पान में बदलाव करना सही माना जाता है |


इसे भी पढ़ें |

ईमेल से 15Gb तक फाइल साइज़ को कैसे भेजें ?

पीयुसी सर्टिफिकेट क्या है ? (Puc Certificate) और कहाँ से बनवाएं हिंदी में फुल जानकारी |

डिलीट डाटा रिकवर कैसे करें ?

मोबाइल स्क्रीन को कंप्यूटर की तरह यूज कैसे करें ?

ऑनलाइन बजाज फाइनेंस सिबिल स्कोर (Cibil Score) चेक कैसे करें?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top