पलाश के फायदे और Plash क्या है?

Last updated on July 26th, 2023 at 08:03 pm

पलाश के फायदे और Plash क्या है? के बारे में जानने के लिए वेबसाइट हिंदी का पूरा पोस्ट पढ़िए | क्यूंकि इस पोस्ट में Plash के फूल से होने वाली ढेर सारे Benefits के बारे में बताया गया है |

जैसा की आप जानते है फूल का महत्व कितना होता है | फूल का उपयोग सजावट में करने के साथ – साथ औषधियों के रूप में उपयोग किया जाता है | जैसे , गुलाब, गेंदा, ओढ़उल इत्यादि | इन्हीं में से एक है Plash का पेड़ जो दिखने में आग की तरह दिखाई देता है |

पलाश-के-फायदे

इसमें इतना अधिक गुण पाया जाता है की यह आयुर्वेदिक में एंथेलमिंटिक और टॉनिक की तरह काम करता है | इस पौधे के फूल में सूक्ष्म-कीटाणु नाशक, एंटी-डाइबेटिक, दर्दनाशक, एंथेलमिंटिक, मूत्रवर्धक,  ट्यूमर-रोधी गुण अधिक पाये जाते है | आइये जानते है Websitehindi.Com पोस्ट में पलाश क्या है? और इसके उपयोग करने के तरीके |

पलाश क्या है?

पलाश फूल का वैज्ञानिक नाम ब्यूटिया मोनोस्पर्मा (Butea Monosperma) है | जिसको पलाश फूल का भी परिवार कहा जाता है | (इसे भी पढ़ें मेडिकल एंड हेल्थ रिक्रूटमेंट बोर्ड (MHRB) के तहत रजिस्ट्रार / प्रदर्शनकारी / निवासी चिकित्सक हेतु भर्ती 2020)

इस फूल के अलांवा छाल और बिज को भी औषधियों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है | कहा जाता है की इन सभी से विभिन्न प्रकार की दवाईयाँ बनायीं जाती है |

पलाश के फायदे Hindime

आगर पलाश के फायदे की बात करें तो कहने पर भी बहुत कम पड़ जायेगा | इस फूल का इस्तेमाल सजावट तथा अन्य रोगों को कम करने में किया जाता है | जो निम्नलिखित है |

(1.) पेट की समस्या

पेट में कीड़ा होने पर पलाश के पूल का इस्तेमाल किया जा सकता है | अगर आपको अपने पेट की समस्या ठीक करना है तो Plash का उपयोग कर सकते है | पेट से जुड़े विकारो में यह आराम दिलाता है | (इसे भी पढ़ें अंतरा सिंह प्रियंका और अभिषेक कुमार का सरस्वती वंदना महिमा वीणा वाली के विडियो 2021)

(2.) रक्त साफ़ करता है पलाश

जैसा की आप जानते है आजकल लोग ज्यादा जंक फूड्स भोजन खाना पसंद करते है | ऐसे में उनके रक्त में बहुत सारे बदलाव हो जाता है | ब्लड को साफ़ करने के लिए हर्बल औषधियों को इस्तेमाल करना गलत नहीं होगा | इसके लिए पलाश के पूल का इस्तेमाल आसानी से कर सकते है |

(3.) सूजन में फायदे

पलाश में विभन्न प्रकार के आइसो ब्यूट्रिन और आइसोकोरोप्सिन, ब्यूटिन, ब्यूट्रिन गुण पाये जाते है जिसके द्वारा शरीर में होनेवाले किसी भी प्रकार के सूजन को कम किया जा सकता है | इस तरह हम कह सकते है की सूजन को कम करने के लिए पलाश का इस्तेमाल किया जा सकता है |

(4.) आंखों के लिए फायदेमंद

पलाश की जड़े का अर्क आंखों में डालने से मोतियाबिंद, रतौंधी जैसी समस्या कम होने लगता  है | इसके अलांवा विभिन्न प्रकार की आंखों की समस्या हेतु Plash Ke Phool का उपयोग कर सकते है | (इसे भी पढ़ें The Kapil Sharma Show में कैसे जाये?)

(5.) पाईल्स में पलाश का इस्तेमाल

क्या आप पाईल्स में आराम चाहते है तो जल्दी से पलाश का इस्तेमाल करें क्यूंकि पलाश में ऐसे औषधीय गुण पाये जाते है जिसको घी और दही के साथ लेने पर खुनी पाईल्स में बहुत लाभ मिलता है |

(6.) त्वचा को स्वास्थ्य रखने के लिए उपयोगी है पलाश

त्वचा को स्वास्थ्य बनाये रखने के लिए पलाश के पौधे को सुखाकर पिस लेना है | अब इसे घी और शहत के साथ ले सकते है | इसका उपयोग करने से हर प्रकार के बीमारी को कम किया जा सकता है | पलाश के मिश्रण का सेवन दिन में दो बार कर सकते है |

(7.) गर्भवती महिलाएं को पलाश के फूल है उपयोगी |

अगर आप गर्भवस्था में है तो पलाश के फूल को पीसकर दूध के साथ दिन में सेवन करने से फायदा मिलता है | कहा जाता है की पलाश स्वास्थ्य बच्चे को जन्म देने में बहुत मदद करता है | (इसे भी पढ़ें काली गाजर खाने के फायदे !)

(8.) दस्त में उपयोगी है पलाश

अगर अप दस्त से परेशान है तो पलाश के पौधे का इस्तेमाल जार सकते है | दूध के साथ पलाश के बिज को ले सकते है | परन्तु ध्यान रखने योग्य बात यह है की इसको इस्तेमाल करने से पहले बिज का काढ़ा जरुर बना लें |

Conclusion

आज के पोस्ट में पलाश के फायदे और Plash क्या है? तथा सफेद पलाश के फायदे के बारे में जानकारी शेयर किया गया है | इस लेख को पढ़कर आपको पता चल गया होगा की Plash से लाभ क्या है? पर नुकसान की बात करें तो कोई नुकसान नहीं है लेकिन जिसको एलर्जी होती है उन्हें सतर्क रहना चाहिए | इसका उपयोग करने से पहले नजदीकी डॉक्टर्स से परामर्श करें |

यह भी पढ़ें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Updates to keyboard shortcuts … On Thursday 1 August, 2024, Drive keyboard shortcuts will be updated to give you first-letter navigation.Learn more