जानिए क्यूँ मुस्लिम बहुल देश के नोट पर गणेश भगवान का फोटो लगाया जाता है

Why Photo Of Lord Ganesha On 20 Thousand Note Of Indonesia?

इंडोनेशिया के नोटों पर भगवान गणेश का फोटो : जानने के लिए पूरा पोस्ट पढ़िए | जैसा की आप जानते है गणेश भगवान का पूजा भारत के अलावां दुसरे देशों में भी किया जाता है |

भगवान गणेश को अन्य भगवान से पहले पूजा करना शुभ माना जाता है | आजकल भारत देश में धर्म के नाम पर बहुते लड़ाई – झगडे हो रहें है लेकिन आपको ये नहीं पता की इंडोनेशिया बहुल मुस्लिम देश के 20000 करेंसी पर भगवान गणेश का फोटो छापे जातें है |

भरत देश के नोटों पर किसी भी भगवान का फोटो नहीं लगाया जाता है . क्यूंकि यह धर्म निरपेक्ष देश है | यहाँ हर धर्म के लोगो को बराबर हक़ दिया जाता है |

इंडोनेशिया के नोटों पर गणेश भगवान का फोटो के बारे में !

इंडोनेशिया जैसे मुस्लिम देश के 20 हजार के नोटों पर गणेश भगवान का फोटो पाया जाता है | जिस तरह से भारत में करेंसी को रुपया कहते है उसी तरह Indonesia Currency को रुपियाह कहते है |

Ganesh Bhagwan indonesia 20000 note
Ganesha Bhagwan indonesia 20000 note

असल में भगवान गणेश को इंडोनेसिया में शिक्षा, कला और विज्ञानं का देवता माना जाता है | नोट के आगे भगवान गणेश का फोटो तथा पीछे क्लास रूम में पढ़ रहें छात्रों का फोटो लगाया गया है |

इंडोनेशिया के 20 हजार के नोट पर भगवान गणेश की तस्वीर क्यों?

Indonesia में 87.5 फीसदी मुस्लिम आबादी तथा तीन फीसदी हिन्दू आबादी है | बताया जाता है कुछ साल पहले Indonesia का अर्थव्यवस्था बुरी तरह से खराब हो गया था | जिसके तुरंत बाद 20000 के नए नोटों पर Ganesha Bhagwan का तस्वीर लगाया गया जिसके फलस्वरूप आर्थिक स्थिति ठीक होने लगी | यह वहाँ के आर्थिक चिंतको का ही मानता था जो सही साबित हुआ |

जिस तरह से भारत में भगवान गणेश का आशीर्वाद हम सभी को प्राप्त होता है उसी प्रकार अन्य देश भी भगवान गणेश के अधीन है |


#indonesia_currency_20000

इसे भी पढ़ें !

भारत का ISRO तो पाकिस्तान की अंतरिक्ष एजेंसी का नाम क्या है?

टॉयलेट के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

अमेज़न डिलीवरी बॉय बनकर 20 से 50 हजार रुपये कमाई करने का मौका !

भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित चीन ऐप की सूची

मोबाइल के डायल पैड में खुद का फोटो कैसे लगाये !

ऑनलाइन एफ.आई.आर कैसे दर्ज करें ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top