डिलीवरी के बाद बाल झाड़ना कैसे रोके? सरल तरीका

अधिकतर महिलाओं के मन में डिलीवरी के बाद बाल झाड़ना कैसे रोके? (Delivery Ke Baad Baal Jhadna Kaise Roke) जैसे सवाल मन में चलता रहता है क्यूंकि घना बाल औरतों का बहुत बड़ा भाग होता है जिससे वह सुन्दर दिखाती है |

नई महिलाओं को बच्चा होने के बाद (Hair Loss After Pregnancy) शारीर में हार्मोन्स को घटने और बढ़ने से बाल झड़ने लगता है | बच्चे को देखभाल के साथ उनका बाल गिरने लगता है तो वह अधिक चिंतित होती है | इसके लिए महिलाये परेशान होने लगती है पर कई स्थितियों में यह समस्या अपने आप ठीक भी होता है | फिर भी महिलाये सोंचती है की प्रेगनेंसी के बाद बालों को गिरने से कैसे रोकें? How To Regrow Hair After Pregnancy?

Delivery Ke Baad Baal Jhadna Kaise Roke hindi
Hair Loss After Pregnancy hindi

बच्चा होने के बाद (Delivery Ke Baad Baal Jhadna) कहाँ तक सही है?

बच्चा होने के बाद अधिकतर महिलाये बाल झड़ने से परेशान रहती है | कहा जाता है की 15% बाल भी गिरना शुरू हो जाता है | बालों का गिरना उन महिलाओं के लिए अधिक चिंता का विषय बना रहता है जो औरतें अधिक लम्बे-लम्बे बाल रखना पसंद करती है | ऐसी समय में हर दिन 50 से 100 बाल गिरते ही हैं |

एस्ट्रोजन का स्तर घटने से कंघी करते समय अधिक बाल निकालता हैं | जो महिला एनीमिया से ग्रस्त होती है वह बाल गिरने से अधिक तंग महसूस करती है |

डिलीवरी के बाद बाल झड़ने पर आसान उपाय

बच्चा पैदा होने के बाद महिला में हार्मोन्स के साथ कई प्रकार के बदलाव नजर आतें है जिसके कई महीनो बाद यह समस्या ठीक होने लगता है | अगर आप चाहते है इन समस्या को ठीक करना तो कुछ आसान तरीका अपना सकते है | (इसे भी पढ़ें  हेयर स्‍ट्रेटनर क्या हैं ? यह आपके बालों के लिए किस प्रकार स्ट्रेट करती है |)

पौष्टिक भोजन: बच्चा होने के पहले महिलाये कई तरह के पौष्टिक भोजन करती है जिससे उनका शरीर स्वास्थ्य और मजबूत दीखता है | जैसे ही महिलाएं बच्चे को जन्म देती है वैसे ही बच्चे को कुछ होने से बचाने के लिए कुछ पौष्टिक आहार खाना बंद कर देती है | जैसे ठंडी फल और सब्जियां |

बालों को मजबूत बनाने के लिए एंटीऑक्सिडेंट्स और फ्लेवोनोइड्स इन्हीं आहार से प्राप्त होता है | अगर महिलाएं ब्जियां और नट्स का सेवन करती है तो फिर से बाल गिरना रुक जाता है | (इसे भी पढ़ें स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए आहार किस तरह का लेना चाहिए?)

छोटा बाल रखें: कई महिलाएं  प्रेगनेंसी (Pregnancy) के बाद लम्बे-लम्बे बाल रखती है जिसके वजह से कंघी करते समय अधिक बाल गिरने लगता है | इससे बचने के लिए कुछ छोटा बाल रखना सही रहता है |

बाजारू केमिकल और उपकरणों से बचना: आज के समय में हर महिला बालों को चमकदार और घने बनाने के चक्कर में हानिकारक रसायन, हीटिंग उपकरण और केमिकल युक्त शम्पू और तेल बालों में प्रयोग करती है | जिसके वजह से उनका बाल कमजोर होकर टूटने लगता है | इससे बचने के लिए बाजारू केमिकल और हीटिंग उपकरण का प्रयोग न करके प्राकृतिक या हर्बल हेयर क्लीन्ज़र अपनाना चाहिए | (इसे भी पढ़ें बालों को झड़ने से रोकने के लिए सरल तरीका !)

विटामिन व अन्य सप्प्लिमेंट्स: आजकल के अनाज, शब्जी और फल उपजाने में खाद, रसायनों का प्रयोग किया जाता है जिसको खाने के बाद भरपूर पोषक तत्व नहीं मिलता | अगर किसी के यहाँ कुछ मिलता भी है तो फल या हरी सब्जियां की कमी हो जाती है | सभी पोषक तत्व में पायेजाने वाले विटामिन सी, विटामिन, इ, जिंक और खनिज को पूर्ति करने के लिए Supplements का सेवन डॉक्टर के देख-रेख में करें |

तनाव में न रहें: आज के दौर में तनाव जिंदगी का हिस्सा बन गया है | जैसे – जैसे महिलाओं का बाल झाड़ता है वैसे ही वह बालों के प्रति चिंता करती है | बाल गिरने से रोकने के लिए हर प्रकार के तनाव से दूर रहना होगा | (इसे भी पढ़ें योनि में खुजली क्यों होती है?)

आवंला का प्रयोग: जैसा की आप जानते है आवंला बालों में होनेवाले पोषक तत्वों को पूरा करता है | इसके लिए आपको आवंला का जूस पीना चाहिए | हो सके तो आवंला चूर्ण लेकर बालों में लगाने वाला तेल (नारियल तेल) के साथ मालिश करें |

भृंगराज: बाजार में दुकानों पर भृंगराज की गोलियां और पावडर मौजूद है | अगर आप भृंगराज को पीसकर लेप की तरह बालों में लगते है तो काफी फायदा मिलता है | (इसे भी पढ़ें पेप्टिक उल्सर (Peptic Ulcer) क्या है? कारण लक्षण और इसके रोकथाम के उपाय)

नारियल का उपयोग: नारियल के कठोर हिस्से को जलाकर चूर्ण जैसा बना लें| इसके बाद नारियल तेल में डालकर मालिश करने से फायदा मिलता है |

 

Conclusion

इस लेख में बाल झाड़ना कैसे रोके? (Delivery Ke Baad Baal Jhadna Kaise Roke) के बारे में जानकारी शेयर किया गया है | मुझे उम्मीद है इस लेख से आप संतुष्ट होंगे | जैसा की आप जानते है किसी भी समस्या के पीछे खुद का गलती भी छुपा होता है जिसको ठीक करने से कहीं हद तक मनुष्य अच्छा महसूस करता है |   (इसे भी पढ़ें सीटेट प्रैक्टिस सेट हिंदी में )

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top