websitehindi channel

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है? महिलाओं में ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने का तरीका

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है? ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने का तरीका : दुनियां के बहुत सारी औरतें ऐसी है जो अपने स्तनों के छोटे आकार से परेशान है | कुछ औरते तो ब्रेस्ट में अन्य प्रकार के सर्जरी करा के अपने स्तनों को खराब कर लेती है |

दुनियां के कुछ महिलाओं का स्तन छोटा रहने का कारण है  ब्रेस्ट में ट्यूमर होना | इस तरह छोटे स्तनों को ठीक करने के लिए ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन सर्जरी करवाना पड़ सकता है | लेकिन इस सर्जरी में पैसे अधिक खर्च होतें है जिसके वजह से महिलाये इस सर्जरी से दूर रहती है |

ब्रेस्ट-ऑग्मेंटेशन
ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन

इस सर्जरी को महिलाएं एक स्तन बड़े व छोटे होने के कारण, दोनों स्तनों को बराबर करने के लिए इस सर्जरी का सहारा लेती है इसके अलावा पुरुष भी अपनी बॉडी फिटनेस में सुधार या बदलाव करने के लिए करते है | इसलिए महिला और पुरुष ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन सर्जरी करवाने में Interest रखतें है |

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है – Breast Augmentation Kya Hai In Hindi

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन एक सर्जरी प्रोसीजर है जिसके द्वारा छोटे-छोटे स्तनों को बड़े आकर में लाया जाता है | आप एक छोटे या बड़े स्तनों से Uncomfortable महसूस करती है तो Breast Augmentation की ओर जा सकती है | (इसे भी पढ़ें किसी लडकी की पसंद कैसे बनें?)

दुनियां में बहुत सारी औरते अपनी सिने में बदलाव करने के लिए इस सर्जरी का सहारा लेती है | इस प्रोसीजर के तहत स्तनों में इंप्लांट लगाया जाता है | इसलिए इस प्रक्रिया को ऑग्मेंटेशन मैमोप्लास्टी कहते है | अब आप समझ गए होंगे ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है? – What Is Breast Augmentation In Hindi.

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन (Breast Augmentation) सर्जरी करवाने के कारण

 

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन की ओर मॉडर्न महिलाओं का झुकाव ज्यादा हो रहीं हैं लेकिन इसका एक वजह नहीं है | ब्रेस्ट सर्जरी कराना अलग – अलग लड़की और औरतों का अलग – अलग कारण हो सकतें है | (इसे भी पढ़ें Varicose Veins क्या है? वैरिकोज वेन्स के घरेलु उपाय हिन्दीमें |)

छोटे स्तनों को बड़े आकर में करने के लिए इस सर्जरी का सहारा लेती है |

स्तनों में ट्यूमर होने के वजह से महिलाएं इस सर्जरी की ओर जा सकती है |

स्तनों को विकसित नहीं होने के वजह से इस सर्जरी की ओर जाना |

गर्भवती महिलाये , गर्भवस्था के बाद छोटे ब्रेस्ट को बड़े आकर में लेन के लिए ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन सर्जरी करा सकती है |

स्तनों का वजन बढ़ाने के लिए |

कुछ महिलाओं में यह भरम होता है की वो स्तनों की वजह से सुन्दर नहीं दिखती है | स्तनों का बनावट सही करने के लिए इस सर्जरी को अपना सकते है |

स्तनों का सर्जरी कराने से नुकसान कब होती है?

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन कुछ स्थितियों और समस्याओं में किसी भी महिला को नहीं करवाना चाहिए नहीं तो आपको नुकसान भी हो सकता है | (इसे भी पढ़ें रतनजोत के फायदे – Benefits Of Ratanjot)

अगर किसी महिला को स्तन में संक्रमण हो तो ये सर्जरी न कराये |

रेडिएशन थेरेपी का इलाज होने पर ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन से दूर रहें |

गर्भवती महिला को ये नहीं कराना चाहिए |

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को ये नही कराना चाहिए |

किसी भी तरह के एलर्जी होने पर ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन सर्जरी न कराये |

 

Brest को बढ़ाने की सर्जरी कैसे की जाती है?

ब्रैस्ट के सर्जरी करने के लिए महिलाओं के स्तन का आकर स्थितियों को देखते हुए किया जाता है | छोटे स्तनों को पड़े आकर में करने के लिए इंप्लांट का उपयोग किया जाता है | इंप्लांट का भी अनेको प्रकार होता है | (इसे भी पढ़ें योगा टीचर कैसे बनें – योग्यता, सैलरी हिन्दीमें |)

इंप्लांट के अन्दर  सेलाइन जेल / सिलिकॉन रहता है जिस्पा उपयोग कर ब्रेस्ट में नई आकार प्रदान किया जाता है | अलग अलग  प्रकार के इंप्लांट का उपयोग महिलाओं के आकार व डॉक्टर द्वारा दिए गए सुझाव के अनुसार होता है |

स्तनों में परिवर्तन करने के लिए सबसे पहले जनरल एनेस्थीसिया का इंजेक्शन दिया जाता है जिससे मरीज गहरी नींद में सो जाता है | इसके बाद जहा पर सर्जरी किया जाता है उसको सुन करने के लिए लोकल एनेस्थीसि का इंजेक्शन लगाया जाता है |

इसके बाद ब्रेस्ट के बाये या निचे स्थिति के अनुसार चीरा लगाया जाता है | इसके बाद  इंप्लांट को आकार में बदलाव करने के लिए लगाया जाता है |

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन के बाद देखभाल कैसे करें?

ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन के बाद महिलाओं में थोड़ी बहुत दर्द होती है पर देखभाल करते हुए छोटी – छोटी बातों को ख्याल रखना जरुरी होता है | सर्जरी कराने के बाद कुछ दिनों तक नहाना माना होता है | (इसे भी पढ़ें वज्रदंती के फायदे – Benefits And Side Effects Of Vajradanti In Hindi)

डॉक्टर द्वारा नहाने से माना इसलिए किया जाता है ताकि पानी से घाव गिला न हो | पानी से नहाने पर घाव सूखने में अधिक समय लेगा |

कुछ स्थितियों में हप्तो तक दर्द का अनुभव होता है | इसके बाद धीरे – धीरे दर्द कम होने लगता है |

प्रभावित जगहों पर कुछ लोशन लगाने के लिए दिया जाता है ताकि घाव सूखने में मदद मिल सकें | इसके बाद समय – समय पर स्तनों का एक्स रे कराने को कहा जाता है | इसमें देखा जाता है की ब्रेस्ट कितना सुरक्षित है |

निष्कर्ष (Conclusion)

Website Hindi.Com के पोस्ट में ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है? ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने का तरीका – What Is Breast Augmentation How To Increase Breast Size. Stan को कैसे बढ़ाये के बारे में बताया गया है | आर्टिकल में यह भी बताया गया है की छोटे ब्रेस्ट को आकार में बदलाव करने के लिए क्या – क्या करना होता है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top