Varicose Veins क्या है? वैरिकोज वेन्स के घरेलु उपाय हिन्दीमें |

Last Updated on 1 year by websitehindi

Varicose Veins क्या है? वैरिकोज वेन्स के घरेलु उपाय हिन्दीमें जानने के लिए वेबसाइटहिंदी.com का पोस्ट पढ़िए क्यूंकि इस पोस्ट में health संबंधित जानकारियां शेयर किया गया है जहाँ से घरेलु नुस्खे से सेहत में सुधार कर सकते है |

आये दिन लोगो की नसे कमजोर होती जा रही है जिसके वजह से पैर में दर्द तथा खून का बहाव कम होने जैसी समस्या होती है | पैर में भारीपन तथा पैर में झुनझुनी हो रही है तो समझ लीजिए आपको वैरिकोज वेन्स की समस्या हो गयी है |

varicose-veins-kya-hai
varicose-veins

Varicose Veins क्या है?

वैरिकोज वेन्स जैसी बीमारी मनुष्य के नसों को खराब कर देता है जिससे खून की मात्रा एक जगह इकट्ठा हो जाता है | पैरों में दर्द तथा चलने फिरने में परेशानी होना आम समस्या है | जिसके बाद त्वचा के ऊपर से नसे दिखाई देने लगती है जिसे Varicose Veins बीमारी कहते है | (इसे भी पढ़ें गुड़मार के फायदे और नुकसान)

ये बीमारी अधिकतर बढती उम्र में देखी गयी है | पैरों , जन्घो के पास नसों की आकर बढ़कर गुच्छा की तरह दिखाई देता है | ये नसे इधर – उअधर मुड़ी हुई होती है | इसके बहुत सारे कारण होते है पर मासिक धर्म, गर्भवस्था के पहले या हार्मोन्स में बदलाव से इस तरह का खतरा बढ़ जाता है |

इसके बाद पैरों में दर्द, जलन, बिना काम के थकान महसूस होना तो कुछ रोगी को चलने फिरने में परेशानी होती है | अब आप समझ गए होंगे की वैरिकोज वेन्स क्या होता है? Varicose Veins in hindi.

वैरिकोज वेन्स के लक्षण – Symptoms of Varicose Veins in hindi.

वैरिकोज वेन्स के वजह से परेशानी के साथ कुछ मुख्य लक्षण है जो इस प्रकार निम्नलिखित है | (इसे भी पढ़ें उद्योग आधार का रजिस्ट्रेशन कर और सर्टिफिकेट पाए पांच मिनट में website hindi)

पैरों में भारीपन लगना |

मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन

टेढ़ा – मेढ़ा गुच्छा की तरह नसे दिखाई देना |

चलने फिरने में दर्द होना |

बैगनी और नीले रंग का नसे दिखाई देना |

बैठने और खड़े होने में परेशानी

सूजन की समस्या होना |

वैरिकोज वेन्स की समस्या होने के कारण

मोटापा बढ़ने से वैरिकोज वेन्स जैसी समस्या होने की चांस बढ़ जाती है क्यूंकि शरीर पर वजन बढ़ने से नसों पर दबाव बढ़ता है |

उम्र को अधिक बढ़ते क्रम में नसों के वॉल्व खराब होने से ब्लड उल्टा दिशा में बह सकता है जिससे आपको Varicose Veins की समस्या हो सकती है |

अगर आपके घर परिवार में पहले से Varicose Veins की समस्या है तो अन्य लोगो को यह समस्या होने की चांस होती है |

घर, ऑफिस में एक ही अवस्था में बैठने से इस तरह की समस्या होती है |

वैरिकोज वेन्स के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies for Varicose Veins in hindi)

वैरिकोज वेन्स से लोगों में बहुत सारी परेशानियाँ होती है जिसे नार्मल गोलियों से काम चलने वाला नहीं है | इसके लिए सर्जिकल उपचार का सहारा ले सकते है | लेकिन यह उपचार आम लोगो के लिए बहुत महंगा होता है |

लेकिन आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है इस पोस्ट में कुछ ऐसे घरेलु उपचार के बारे में बताया गया है जिससे आप समस्या को  कम कर सकते है | (इसे भी पढ़ें कच्चा या अधपका अंडा क्यों नहीं खाना चाहिए?)

 

(1.) ज्यादा देर तक न बैठे

अगर आप ज्यादा देर तक बैठे रहते है तो आपके शरीर में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है तथा बैठते क्रम में पैर को एक दुसरे पर चढ़ाकर रखने से ब्लड सर्कुलेशन रुक सकता है | इन सभी समस्या में राहत पाने के लिए समय-समय पर टहलने व चलने की कोशिश करें |

घर पर बैठते समय बैरों को सीधा करके रखें | कभी – भी पैरों को अधिक देर तक मोड़कर न रखें |

(2.) समृद्ध आहार लें |

भोजन करते समय खाने में फाइबर युक्त आहार खाने की कोशिश करें | ऐसी आहार (मटर, बिन्स, गाजर, टमाटर, पत्ता गोभी, प्याज) खाने से कब्ज की समस्या ठीक हो जाती है | इससे आपके साथ होनेवाली समस्या वैरिकोज वेन्स से राहत मिलेगी | (इसे भी पढ़ें वज्रदंती के फायदे – Benefits And Side Effects Of Vajradanti In Hindi)

 

(3.) वैरिकोज वेन्स के उपचार में जैतून का तेल

वैरिकोज वेन्स की समस्या में लोगो को सूजन और दर्द महसूस होती है | ऐसी स्थिति में ब्लड का सर्कुलेशन बढ़ाने के लिए  जैतून के तेल का मालिश करने से फायदा मिलेगा | इस तेल को विटामिन-ई तेल के साथ मिलकर गुनगुना करें | अब प्रभावित जगहों पर दो महीने तक मालिश करें |

(4.) ये खाने में कम मात्रा में लें

नमक और चीनी का परहेज करें |

बाजार से जंक फूड्स भोजन न खाए |

धुम्रपान से दूर रहें |

शराब न पिए |

रिफाइंड से बनी आहार से बचना चाहिए |

तले हुए खाने से परहेज करें |

(5.) वैरिकोज वेन्स के उपचार में लाल शिमला मिर्च का उपयोग

लाल शिमला मिर्च में बायोफ्लेवोनॉयड्स  और विटामिन-सी की पर्याप्त मात्रा होती है | अगर आप इसके पाउडर को उपयोग में लेते है तो फायदा मिल सकता है | (इसे भी पढ़ें चेहरे को साफ करने का तरीका !)

(6.) नारियल का तेल

जैसा की आप जानते है नारियल तेल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मौजूद होतें है | इसका उपयोग करने के लिए एक जग गुनगुने पानी में आठ बूंद नारियल तेल डालकर सिकाई करें इससे फायदा मिलेगा |

(7.) व्यायाम से राहत

ब्लड प्रेशर नियंत्रित करने तथा  ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनाने के लिए हर दिन व्यायाम करने की आदत लगाये | साइकिलिंग करना, टहलना, तैराकी, योग करने से शरीर के मांसपेशियों में बेहतर सुधार होगा | (इसे भी पढ़ें दांतों को मजबूत बनाने के सरल उपाय – Simple ways to strengthen teeth)

निष्कर्ष (conclusion)

वेबसाइटहिंदी.कॉम के पोस्ट में Varicose Veins क्या है? वैरिकोज वेन्स के घरेलु उपाय हिन्दीमें बताया गया है पोस्ट में यह भी बताया गया है की Varicose Veins के लक्षण, कारण, वैरीकोसेल आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट पतंजलि,वैरिकोस वेइन्स लेटेस्ट ट्रीटमेंट इन हिंदी,वैरिकोस वेइन्स ट्रीटमेंट इन पतंजलि इन हिंदी,वैरिकोज वेन्स का,होम्योपैथिक इलाज,वेरीकोसील का आयुर्वेदिक उपचार,वैरिकोज वेन्स का आयुर्वेदिक इलाज क्या है?

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top