websitehindi channel

डिजिटल सिग्नेचर (Digital Signature) क्या होता है?

Last Updated on 4 months by websitehindi

Digital Signature क्या होता है? (What Is Digital Signature In Hindi): वेबसाइटहिंदी.कॉम के इस पोस्ट में डिजिटल हस्ताक्षर के बारे में बताया गया है की ऑनलाइन हस्ताक्षर किस प्रकार Important है |

आये दिन बैंक, पोस्ट ऑफिस अथवा आवेदन फॉर्म में Signature का इस्तमाल होता है | परन्तु आप यह बात भी जानते होंगे की ऑफलाइन के अलावा इन्टरनेट पर डिजिटल Signature का उपयोग जोरो से हो रहा है |

Digital-Signature-hindi
Digital Signature

जब Signature की बात आती है तो हमे स्वयं निर्णय करना होता है की किसी पेपर पर Signature करें या नहीं | किसी भी Field में पेपरों पर हस्ताक्षर करने का मतलब है की आप वह हस्ताक्षर आपने  सहमती से कर रहें है | आइये जानते है Digital Signature क्या है? और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

 

Digital Signature क्या होता है? (What Is Digital Signature In Hindi)

आज के समय में डिजिटल Signature बहुत ही Important होते जा रहा है | Epf, इनकम टैक्स , टीडीएस और GST जैसे कार्यों में डिजिटल हस्ताक्षर का इस्तेमाल होते जा रहा है | (इसे भी पढ़ें लाइनमैन (Lineman) क्या होता है? योग्यता, वेतन और चयन प्रक्रिया |)

यदि आप किसी दस्तवेज या फॉर्म पर Signature करते है तो यह साबित होता है की जिस कार्य के लिए हस्ताक्षर किया गया है वह आपके सहमति से हुई है | हस्ताक्षर यह साबित करता है की डॉक्यूमेंट पर किया गया हस्ताक्षर आपका ही है |

अगर आप किसी लिखे हुए टेक्स्ट या डॉक्यूमेंट पर Signature कर कही भेजते है तो रिसीव करने वाला व्यक्ति पहचान लेता है की वह भेजा गया डॉक्यूमेंट किसका है | लेकिन यहाँ पर Digital Signature की बात हो रही है जिसका इस्तमाल फाइनेंसियल ट्रांसक्सन, ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से किया जाता है | अब आप समझ गए होंगे कि डिजिटल सिगनेचर क्या होता है? (इसे भी पढ़ें ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन क्या है? महिलाओं में ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने का तरीका)

Digital Signature कैसे काम करता है?

Public Key Cryptogrphy के ऊपर Digital Signature आधारित होता है? इसलिए इसे Asymmetric Cryptography भी कहा जाता है | Signing Software  की सहायता से Electronic Data का Signature बनाना होता है |

डिजिटल Sign में दो प्रकार के Key इस्तमाल होता है जो इस प्रकार है | Private Key और Public Key. ऐसे में किसी दस्तवेज पर Sign किया जाता है तो Signer का इस्तमाल होता है जिससे डॉक्यूमेंट Encrypt हो जाता है क्यूंकि यहाँ Private Key का इस्तमाल होता है|

जब किसी दस्तवेज पर Digitally Signed होता है जिससे Numbered Sequence निकलता है क्यूंकि यहाँ पर Hash Function अप्लाई किया जाता है | जिसे Hash कह सकते है | (इसे भी पढ़ें एयरटेल, बीएसएनएल, jio, VI Sim card के PUK Code पता कैसे करें?)

Public Key का इस्तमाल तब होता है जब किसी डॉक्यूमेंट/दस्तवेज की खोलने की जरुरत होती है | जिसके बाद Signed Document को Decrypt किया जाता है अब आप समझ गए होंगे की डिजिटल सिग्नेचर कैसे काम करता है |

डिजिटल सिग्नेचर कैसे और कहां से प्राप्त करें?

डिजिटल सिग्नेचर बनाने के लिए आपको CA संस्था से संपर्क करना होगा | जरुरत के अनुसार जब भी कोई डॉक्यूमेंट, पैन, आधार, मोबाइल नंबर इत्यादि देता है तो वह पब्लिक Key का इस्तमाल कर डाटा का लेन देन करता है | (इसे भी पढ़ें लीप डे क्या होता है? लीप वर्ष (Leap Day) से मनुष्य पर प्रभाव)

किसी भी व्यक्ति का नाम यानि की उसकी पहचान डिजिटल Signature द्वारा सुनिश्चित किया जाता है | इसके लिए उपभोगता द्वारा सभी डिटेल्स CA (Certificate Authority) के पास भेजना होता है |

डिजिटल Signature कहां-कहां इस्तमाल किया जाता है?

अगर डिजिटल सिग्नेचर की बात करें तो आज के समय में हर एजुकेशनल, बैंकिंग और जॉब साईट में इसका इस्तमाल होने लगा है | जीएसटी Return फाइल में, Epf, एजुकेशन बोर्ड, इनकम टैक्स Return, टीडीएस में भी डिजिटल सिग्नेचर का उपयोग होता है | (इसे भी पढ़ें UAN Number Activate कैसे करें ?)

इससे आप समझ गए होंगे की हर प्राइवेट काम और सरकारी काम में डिजिटल सिग्नेचर इस्तमाल किया जा रहा है |

Digital Signature के फायदे

डिजिटल Signature कहीं हद तक सुरक्षित रहता है | अगर कोई किसी तरीके से कॉपी करना चाहता है तो यह उसके लिए असंभव हो जाता है |

डिजिटल सिग्नेचर से यह भी फायदा होता है की पहले से किये गए Signature में कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकता है और इससे पता चलता है की डॉक्यूमेंट का मालिकाना हक़ किसके पास है | (इसे भी पढ़ें योगा टीचर कैसे बनें – योग्यता, सैलरी हिन्दीमें |)

डिजिटल Signature करना आसान होता है | हजारो डाक्यूमेंट्स या पेपर पर बहुत कम समय में एक ही जैसा सिग्नेचर किया जा सकता है | क्यूंकि इसमें बार – बार नए-नए पेन से Signature करने की जरुरत नहीं होती है |

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल में Digital Signature क्या होता है? (What Is Digital Signature In Hindi). डिजिटल सिग्नेचर के फायदे हिन्दीमें बताया गया है | इसके अलावा यह भी बताया गया है की डिजिटल सिग्नेचर का काम क्या होता है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top