Bluetooth क्या है? ब्लूटूथ कैसे काम करता है!

Last Updated on 4 months by websitehindi

What Is Bluetooth In Hindi: ब्लूटूथ का नाम हर कोई जनता है. क्यूंकि एक डिवाइस से दुसरे डिवाइस में डेटा ट्रान्सफर करने के लिए सबसे पहले ब्लूटूथ का ही इस्तेमाल करते है. ब्लूटूथ ऐसा माध्यम है जिसको नार्मल डिवाइस में भी लगाया गया है.

आज से 15 वर्ष पहले से ही ब्लूटूथ को नार्मल मोबाइल (फोन) से लेकर ब्लूटूथ डिवाइस में लगी हुई है. कहने का मतलब यह है की Bluetooth का इस्तेमाल कर किसी भी फोल्डर (File) को दुसरे डिवाइस में ट्रान्सफर कर सकते है.

इसके अलावा एक Device से दुसरे डिवाइस को कण्ट्रोल करने में ब्लूटूथ का इस्तेमाल किया जाता है. आइये जानते है ब्लूटूथ क्या है? और ब्लूटूथ का इतिहास दुनियां में कब से है (Bluetooth Kya Hai In Hindi)

Bluetooth kya hai hindi

ब्लूटूथ क्या है? (Bluetooth In Hindi)

Bluetooth Technology एक वायरलेस तकनिकी है जिसको इस्तेमाल कर दो या दो से अधिक डिवाइस को एक साथ जोड़ कर डेटा ट्रान्सफर किया जा सकता है. कहने का मतलब है की आप एक डिवाइस से दुसरे डिवाइस को आसानी से कंट्रोल कर सकते है.

ब्लूटूथ वायरलेस रेडियो तकनीक के माध्यम से लगभग 10 मीटर से 50 मीटर तक डेटा ट्रान्सफर करने में मदद करता है. ब्लूटूथ से कंप्यूटर, मोबाइल, प्रिंटर, माउस, कीबोर्ड, हैडफ़ोन, ब्लूटूथ इत्यादि को एक साथ कनेक्ट किया जा सकता है.

ब्लूटूथ का इतिहास (History Of Bluetooth In Hindi)

सन 1994 में Dr. Jaap Haartsen द्वारा ब्लूटूथ का आविष्कार किया गया था. वहीं प्रणाली की बात करें तो आपको बता दूं उस समय Ericsson प्रणाली पर यह डिवाइस काम कर रहा था.

उसी समय 1998 में Bluetooth Special Interest Group (SIG) का तुरंत गठन किया गया जिसमें Sony Ericsson, तोशिबा, नोकिया, Ericsson और इंटेल भी शामिल थे. इसके बाद हैण्ड फ्री मोबाइल 1999 में पहली बार Consumer Bluetooth के रूप में लांच किया गया.

1999 के वर्ष में ब्लूटूथ 1.0 के स्पेसिफिकेशन वाला वर्शन अधिकारिक रूप से लांच किया गया जिसके एक वर्ष के उपरांत चिपसेट, फोन, डोंगल को रिलीज़ किया गया. वहीँ मोबाइल (फोन) की बात करें तो Sony कंपनी द्वारा एक डिवाइस रिलीज़ किया गया. इसके कुछ वर्षों बाद बहुत सारे डिवाइस में ब्लूटूथ का ऑप्शन दिए जाने लगे.

ब्लूटूथ नाम क्यों पड़ा

ब्लूटूथ का नाम बहुत ही मुस्किल से पड़ा है जिसके बहुत बड़ी रोचक कहानी भी है. उस समय डेनमार्क के राजा Harald Bluetooth थे, जो की एकजुट होने के लिए नमार्क और नॉर्वे के हिस्से के राज्यों में कामयाब रहें.

उस समय इंटेल के कंपनी के इंजिनियर द्वारा The Longship नमक किताब को पढ़ें. जिसके बाद The Longship के बारे में पढने के बाद ब्लूटूथ का नाम पड़ा.

इन्हें भी पढ़िए 

Bluetooth काम कैसे करता है?

ब्लूटूथ का इस्तेमाल करते समय रेडियो तरंग के फॉर्म में रिसीव करता है. लगे हुए डिवाइस में एक ब्लूटूथ एडाप्टर लगा होता है. इसे आप ब्लूटूथ का कॉम्पोनेन्ट कह सकते है, जिसके बाद डेटा को सेंड या रिसीव कर सकते है.

किसी भी ब्लूटूथ का एक रेंज होता है. जिसके तहत डेटा को किसी भी डिवाइस में Send या Receive करते है.

इस प्रक्रिया में एक Frequency काम करता है जिसके बाद एक ही  Frequency में दो डिवाइस को सर्च करते है तो वह कनेक्ट हो जाता है. इस तरह से एक डिवाइस से दुसरे डिवाइस को Detect कर एक दुसरे से जोड़ सकते है. इस तरह से डेटा को आदान-प्रदान किया जा सकता है.

ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी के प्रकार (Type Of Bluetooth Technology In Hindi)

दुनियां में ब्लूटूथ को रिलीज़ करने के बाद अनेकों प्रकार को लांच किया गया है. जो इस प्रकार है.

(1.) ब्लूटूथ हेडसेट (Bluetooth Headset)

Bluetooth हेडसेट को स्मार्टफोन / फोन में लगाया गया है, ब्लूटूथ का यूज मोबाइल फोन में करने के बाद हैडफ़ोन से गाने सुनने के साथ एक मोबाइल से दुसरे मोबाइल में डेटा ट्रान्सफर किया जा सकता है.

(2.) ब्लूटूथ जीपीएस डिवाइस (Bluetooth GPS Device)

ब्लूटूथ का इस्तेमाल कर एक जगह से दुसरे जगह पर आने- जाने वाले डायरेक्शन के बारे में पता कर सकते है. इस तरह के डिवाइस में बोलकर डिवाइस को कंट्रोल किया जाता है.

(3.) ब्लूटूथ प्रिंटर (Bluetooth Printer)

पहले के अपेक्षा आज के समय में प्रिंटर में ब्लूटूथ लगे हुए होते है. जिसके वजह से Printer को बिना केबल के लैपटॉप / मोबाइल से कनेक्ट कर सकते है.

(4.) ब्लूटूथ कीबोर्ड और माउस (Bluetooth Keyboard And Mouse)

आज के समय में सभी डिवाइस में ब्लूटूथ लगे हुए है. जिसमें माउस और कीबोर्ड भी शामिल है. कीबोर्ड में ब्लूटूथ लगे होने से कभी – भी बिना तार (वायर) के कनेक्ट कर सकते है.

(5.) साउंड सिस्टम (Sound System)

किसी भी Sound सिस्टम डिवाइस में ब्लूटूथ का इस्तेमाल को एक डिवाइस से दुसरे डिवाइस को कनेक्ट कर कण्ट्रोल किया जा सकता है. अगर आपके पास कोई स्पीकर है तो आप मोबाइल फोन से कनेक्ट कर साउंड को नियंत्रण कर सकते है.

ब्लूटूथ का उपयोग क्या है? (Uses Of Bluetooth In Hindi)

  • ब्लूटूथ का Features सभी मोबाइल फ़ोन में देखने को मिलता है. जिसका उपयोग कभी भी बिना नेटवर्क के कर सकते है.
  • एक डिवाइस को दुसरे डिवाइस से कनेक्ट करने में ब्लूटूथ का इस्तेमाल होता है.
  • कंप्यूटर / लैपटॉप से ब्लूटूथ हैडफ़ोन को जोड़कर बिना तार (केबल) के संगीत सुन सकते है.
  • एक मोबाइल से दुसरे मोबाइल में डेटा ट्रान्सफर करने के लिए ब्लूटूथ का इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • माउस और कीबोर्ड को लैपटॉप/ कंप्यूटर से कनेक्ट किया जा सकता है.
  • बहुत सारे डिवाइस को एक दुसरे से जोड़ने में ब्लूटूथ मदद करता है.

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल में Bluetooth क्या है? ब्लूटूथ कैसे काम करता है! के बारे में डिटेल्स शेयर किया गया है. इस पोस्ट में यह भी बताया गया है की ब्लूटूथ का हिस्ट्री क्या है. इसके साथ – साथ ब्लूटूथ का फायदे भी बताया गया है.

अब आप समझ गए होंगे की ब्लूटूथ क्या है. इस पोस्ट में यह भी बताया गया है की ब्लूटूथ के कितने प्रकार होतें है. अगर आप डिटेल्स में जानना चाहते है तो Website Hindi यूटूब Channel को Subscribe कीजिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top