websitehindi channel

रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है?

रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है? Hindime जानने के लिए वेबसाइटहिंदी का पूरा पोस्ट पढ़िए क्यूंकि इस पोस्ट में Rail पटरियों पर गिट्टी होने के वजह बताई गयी है |

रेल की पटरियों पर पत्थर सभी को दिखाई देता है | सभी जानते है की Rail Ke Patri पर नुकीली पत्थर होतें है | आज के समय में गरीब हो या अमीर सभी एक न एक दिन रेल का सफ़र जरुर किये होंगे |

रेल-की-पटरी

रेल की सफर करते समय पटरियों पर नुकीले पत्थर जरुर देखें होंगे | क्या आपको जानने का मन नहीं करता की पटरियों पर इतने गिट्टी पड़ा क्यों होता है | आइये जानते है रेलवे पटरी पर अधिक गिट्टी होने का क्या कारण है |

रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है?

रेलवे पटरियों के बिच पत्थर रहने का बहुत सारे मुख्य कारण है जिसके लिए नुकीले पत्थर डाले जातें है |

शुरुआत में रेल पटरियों को बिछाते समय लकड़ी के पटरो की आवश्यकता होती थी लेकिन सबकुछ बदलते ही सीमेंट कि  पटरा सिल्लियीं के रूप में इस्तेमाल होने लगा | इन पटरो के ऊपर ट्रैक बिछाकर पूर्ण रेलवे ट्रैक तैयार किया जाता था | (इसे भी पढ़ें ड्रग रिएक्शन क्या है? Drug Reaction in hindi)

(1.) बात करें नुकीले पत्थरों की तो ये पत्थर इसलिए भी डाला जाता था की रेल गाडियां चलने से होनेवाली कम्पन पटरी को खराब न करें |

(2.) जैसा की आप जानते है  रेलगाड़ी का भार कितना अधिक होता है | आप इस तरह समझ सकते है की अगर इतना भार किसी चीज पकार रख दिया जाये तो क्या होगा? पटरी के निचे भार का संतुलन बनाये रखने के लिए गिट्टी का इस्तेमाल किया जाता है |

(3.) तेज धुप और रेल चक्के के घर्षण की वजह से रेल की पटरियां को फैलने का डर बना रहता है | इस समय रेल का पूरा भार पटरियों के साथ सीमेंट के बने सिल्लियों पर आकर पत्थरों पर आ जाता है | भार की वजह से ट्रैक का बैलेंस बराबर रखने के लिए पत्थरो का यूज होता है | (इसे भी पढ़ें कच्चा या अधपका अंडा क्यों नहीं खाना चाहिए?)

(4.) जैसा की आप जानते है रेल चलने से अधिक आवाज होती है जिसको सुनना बेकार लगता है | फालतू के आवाज कम कर ध्वनी प्रदुषण को कम किया जाता है |

(5.) अगर पटरी के बिच मिट्टी दिखाई देगा तो बहुत सारे झाड़ियाँ उग जाएगी जिसके बाद रेलवे चलाने में परेशानी हो सकती है | घांस और पौधा उगने से बचाने के लिए रेल के पटरी पर पत्थर का इस्तेमाल किया जाता है | (इसे भी पढ़ें Create New Ads Campaigns In Hindi – फर्स्ट काम्पैग्न्स क्रिएट कैसे करें?)

(6.) बरसात के दिनों में वर्षा होने से अधिकतर जगहों पर जल -जमाव हो जाता है | वर्षा की पानी भरने से मिट्टी बह सकती है | यहाँ तक की पानी सूखने में दिक्कत होगा लेकिन गिट्टी में ऐसा नहीं है | इसमें वर्षा का पानी गिट्टी के गैप द्वारा बह जाता है | जिसके वजह से ट्रैक पर पानी लगना असंभव सा होता है |

(7.) बरसात में मिट्टी बह जाती है लेकिन पत्थर बहता नहीं है इसीलिए भी रेलवे ट्रको पर गिट्टी का होना आवश्यक है |

Conclusion

वेबसाइट हिंदी.कॉम के पोस्ट में रेल की पटरी पर पत्थर क्यों होते है? के बारे में मुख्य जानकारियां शेयर किया गया है | अगर आपको यह जानकारी पसंद आये तो Social साईट पर शेयर करें ताकि अन्य दोस्तों को सही जानकारी मिल सकें |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top