आई.एस.ओ प्रमाण पत्र क्या है ? (ISO Certificate Kya Hai in Hindi)

आईएसओ प्रमाणन क्या है? योग्यता, शुल्क व पूरी जानकारी : अगर आप iso certificate बनवाना चाहते है तो इस पोस्ट को पढ़िए | अगर आप ऑनलाइन पंजीकरण के बारे में पूरी जानकारी शेयर की गयी है |

जैसा की आपको पता है व्यवसाय / बिजनेस के लिए iso प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है |

यदि आप आईइसओ प्रमाण पत्र के बारे में जानना चाहते है तो इस पोस्ट को पढ़िए |

आई.एस.ओ प्रमाण पत्र क्या है ? (ISO Certificate Kya Hai in Hindi)

यह एक प्रकार के पंजीकृत मुहर होर्ता है जिसको लग जाने के बाद कंपनी के प्रति ग्राहक का भरोसा बढ़ जाता है |

ऐसी कंपनियां प्रोडक्ट को लेकर ग्राहक के प्रति विश्वसनीयता दिखाती है | इसके बाद हर ग्राहक का भरोसा बढ़ने लगता है |

आईएसओ प्रमाण पात्र बनाने में लगने वाले शुल्क

यदि आप दिल्ली, चेन्नई, मुंबई जैसी शहरों में आईएसओ प्रमाणन प्राप्त करते है तो 5000 रुपये या इससे अधिक खर्च लगता है |

इन कार्यो को पूरा होने में ग्राहक द्वारा लगभग 15 दिनों का समय लगता है |

आईइसओ 9001 क्या होता है?

यह बिजनेस मॉडल पर काम करने वाला ऐसी प्रणाली है जो गुणवता प्रबंधन प्रणाली पर कार्य करता है |

इसे आप गुणवता प्रणाली के आईएसओ 9001 कह सकते है | यह ग्राहक और बिजनेस , दोनों के लिए लाभकारी होता है |

सबसे मुख्य फायदा यह होता है की जिस कंपनियों को ऐसी मान्यता प्राप्त होती है उस व्यवसाय का उत्पाद गुणवता पूर्ण होता है |

आईएसओ पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

यदि आप आईएसओ पंजीकरण करना चाहते है तो आप निम्नलिखित दस्तावेज लगाना जरुरी है |

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड / निर्वाचन पहचान पत्र
  • खरीद और बिक्री बिल
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

आईएसओ प्रमाण पत्र के फायदे

कंपनी के लिए अंतराष्ट्रीय विश्वसनीयता होना: किसी भी व्यवसाय को अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहचान करने के लिए मान्यता प्राप्त एक चिन्ह होना चाहिए |

ग्राहक की संतुष्टि : व्यवसाय को इस तरह से पहचान मिलता है तो ग्राहक के मन में संतुष्टि होती है |

इससे यह पता चलता है की कंपनी द्वारा उत्पादन में सुधार किया जा सकता है |

उत्पाद में गुणवता होना : आईएसओ का मान्यता लेने के आपके गुणवता में सुधार होने का प्रतिक है |

इससे यह होता झी की उत्पादन में किसी भी प्रकार के त्रुटियाँ नहीं होती है |

व्यावसायिक रूप से दक्षता प्राप्त होना : यह ऐसा प्रमाण है जिसको प्राप्त करने के बाद कार्य को बेहतर बनाने के लिए निर्देश दिए जाते है |

इससे यह होता है की आपके व्यवसाय को कुशल बनाने में मदद करता है |

विक्रेता : आई एस ओ का मान्यता लेने से लोगो का विश्वास बढ़ता है और व्यवसाय के विश्वसनीयता में सुधार होता है |

इसलिए आईइसओ का प्रमाण लेना आवश्यक हो जाता है |

Iso Certificate प्राप्त कैसे करें ?

आईएसओ सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए तीन से छ : महीने का समय लग सकता है | इसके लिए आपको पूरी तरह से तैयारी करना होगा |

इस प्रमाण पत्र को तभी आवेदन करें जब आईएसओ मैनजर पूर्ण रूप से संतुष्ट हो जाये |

Iso Certificate प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन व ऑनलाइन आवेदन करना होता है |

वहीं एजेंट के माध्यम से इस प्रमाण पात्र को ऑनलाइन कर सकते है |

आई.एस.ओ मानक लिस्ट 2023

  • आईएसओ 9001:2015 यह प्रमाण पत्र खाघ सुरक्षा खतरों से नियंत्रण करता है |
    • इस प्रमाण पत्र को किसी भी संगठन से लिया जा सकता है |
    • इस प्रमाण पत्र को खाघ सामग्री के लिए पंजीकृत कराया जाता है |
  • आईएसओ 14001 – 2015  यह ऐसी प्रमाणन है जिसको इस्तेमाल करने से पर्यावरण प्रबंधन हेतु आवश्यकताओं को निर्धारित करता है |
    • यह आकर और प्रकार के बावजूद संगठन को आवंटित करता है |
  • आईएसओ 45001 : 2018  इस प्रमाणन का इस्तेमाल करके व्यावसायिक और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली को मजबूत करता है |
    • आप यह भी कह सकते है की यह मानक सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली और व्यावसायिक स्वास्थ्य के रूप में जाना जाता है |
    • यह आपके संगठन को ख़राब होने से रोकने के लिए सुरक्षा प्रदर्शन और व्यावसायिक स्वास्थ्य सुधार करने में सक्षम बनाता है |
  • आईएसओ 22000 : 2005  यह प्रमाणन , खाघ सुरक्षा खतरों को नियंत्रण करता है |
    • कहने का मतलब यह है की यह खाघ सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली के आवश्यकताओं को निदृष्ट करता है |
  • आईएसओ 29990 : 2010 इस प्रमाणन को संगठन को गुणवता और प्रदर्शन के लिए नए मॉडल प्रदान करता है |
    • यह ग्राहकों को प्रशिक्षण और शिक्षा की योजना , विकास करने में सिखाने के लिए सामान्य सन्दर्भ है |
  • आईएसओ 15001 : 2010  यह प्रमाणन स्वसन उपकरण पर लागु होता है | यह एक प्रकार का अंतराष्ट्रीय मानक है |
  • आईएसओ 150001 : 2011 यह प्रमाणन को कुशल प्रबंधन के लिए दिया जाता है | यह एक प्रकार के उर्जा प्रबंधन प्रणाली है |
    • यह प्रणाली रखरखाव , कार्यान्वयन सुधार हेतु आवश्यकताओं को पूरा करता है |
  • आईएसओ 16732 – 1 : 2012  यह प्रमाणन आग से जोखिम की व्याख्या और मात्रा निर्धारण में अंतनिर्हित सिद्धांतों को रखती है |
    • यह प्रमाणन ज्यादा से ज्यादा आग से संबंधित घटना पर लागु हो सकता है |
  • आईएसओ 27001 : 2013 यह प्रमाणन को सुचना , रखरखाव और संगठन में सुधार व्यवस्था के लिए दिए जाते है |
    • कहने का मतलब यह है  की यह लगातार सुधार करने व रखरखाव के लिए आवश्यकताओं को निदृष्ट करता है |
  • आईएसओ 20000 – 1 : 2016  यह ऐसी मानक है जो आईटी कंपनियों में एक कुशल और गुणवता प्रबंधन प्रणाली के होनेवाली कार्यान्वयन में हेल्प करता है |
    • सबसे मुख्य बात यह है की यह सेवाओं के गुणवता बढ़ाने के लिए किया जाता है |
  • आईएसओ 20121: 2012  यह मानक गुणवता , सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए  विकसित करता है | यह प्रमाणन तीन वर्षों के लिए वैध होता है |

निष्कर्ष:

इस पोस्ट में आई.एस.ओ प्रमाण पत्र क्या है ? और इसकी पंजीकरण कैसे किया जाता है के बारे में पूरी जानकारी शेयर की गयी है |

यदि आप इस प्रमाण पत्र को बनवाना चाहते है तो ऑफलाइन या ऑनलाइन माध्यम से बना सकते है |

यह भी पढ़े

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Updates to keyboard shortcuts … On Thursday 1 August, 2024, Drive keyboard shortcuts will be updated to give you first-letter navigation.Learn more