websitehindi channel

एंडोमेट्रियोसिस क्या है? महिलाओं में Endometriosis जैसी समस्या से छुटकारा कैसे पाये |

एंडोमेट्रियोसिस क्या है? महिलाओं में Endometriosis जैसी समस्या से छुटकारा कैसे पाये | क्या यह महिलाओं में जोखिम भरी होता है डिटेल्स में जानने के लिए वेबसाइटहिंदी.कॉम का पूरा पोस्ट पढ़िए |

एंडोमेट्रियोसिस की समस्या महिलाओं में होती है | इस समस्या से परेशान महिलाओं के गर्भाशय के अन्दर के ऊतक बाहर की ओर बढ़ने लगता है | जिसकी वजह से महिलाओं को अत्यधिक दर्द होता है |

एंडोमेट्रियोसिस-क्या-है-endometriosis-kya-hai
endometriosis

जब एंडोमेट्रियल ऊतक में वृद्धि होती है तब वह बाहर के अंगो से होकर फैलने लगता है | यही वजह है की Endometriosis से महिलाओं को अधिक परेशानी उठाना पड़ सकता है |

 

एंडोमेट्रियोसिस क्या है? (What Is Endometriosis In Hindi)

एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis)एक प्रकार के बीमारी है जिससे परेशान महिलाओं में देखा गया है | गर्भाशय से एंडोमेट्रियल ऊतक बाहर तब निकालता है जब इसके आकर में वृद्धि होती है | (इसे भी पढ़ें डिलिवरी के बाद सूजन क्यों आती है? कारण लक्षण और उपचार 2021 में)

बहुते महिलाएं इस बात से परेशान रहती है की इसका ईलाज क्या होगा तो आपको बता दू इस प्रकार के समस्या में आंतरिक तंत्र में कमी देखने को मिला है | डिटेल्स में पढने के लिए Websitehindi.Com का पूरा पोस्ट पढ़ें |

एंडोमेट्रियोसिस के लक्षण – Symptoms Of Endometriosis

औरतों में माहवारी के समय अधिक ब्लीडिंग होने लगता है |

महिलाओं को कब्ज की समस्या होने लगता है |

चक्कर और थकान होना |

यौन-सम्बन्ध बनाते समय या बाद में अधिक दर्द महसूस करना |

किसी – किसी महिलाएं को माहवारी के समय थोडा दर्द होता ही है परन्तु एंडोमेट्रियोसिस में पहले के अलावा अधिक दर्द बढ़ जाता है |

निसंतानता होना |

कुछ महिलाओं को पेशाब करते समय दर्द का सामना करना पड़ सकता है |

समय पर गर्भधारण न होना बहुते महिलाओं में इस तरह की समस्या हो सकता है |

एंडोमेट्रियोसिस के कारण – Causes Of Endometriosis

पीरियड्स के समय अधिक  रक्तस्राव होने का अन्य कारण भी है पर पीरियड्स के दौरान  पेल्विक कैविटी में एंडोमेट्रिअल कोशिकाएं प्रवेश कर जाती है जिसके बाद पेल्विक के अंगों की दीवारों से चिपक जाती है जिसके वजह से पीरियड्स के समय अधिक मोटी होने लगती है यही वजह है की रक्तस्त्राव होती है | (इसे भी पढ़ें किडनी फेल होने पर भोजन में क्या खाएं या न खाएं? – What To Eat In The Event Of Kidney Failure)

सर्जरी होने के बाद, सर्जरी में लगे चीरे से एंडोमेट्रिअल कोशिकाएं जुड़ जाती है

जब महिलाये 30 वर्ष के करीब या ज्यादा उम्र के होती है तो इस तरह की समस्या हो सकती है |

मासिक धर्म के दौरान हार्मोन्स में बदलाव होने से इस तरह की समस्या हो सकती है |

पीरियड के दौरान रक्त में एंडोमेट्रियल कोशिकाएं की गड़बड़ी की वजह से मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्त स्त्रावित होता है |

 

एंडोमेट्रियोसिस का इलाज

इस समस्या का इलाज तो है पर महिलाओं के स्थिति और लक्ष्ण को देखते हुए करना चाहिए |

कभी – कभी महिलाओं को प्रोजेस्टिन थेरेपी के द्वारा ठीक करने का दावा किया जाता है | दुनियां में बहुत सारी महिलाएं Progestin Therapy की सहायता लेकर ठीक हो जाती है | (इसे भी पढ़ें Jiomart Official App क्या है ? जिओमार्ट किराने समान के लिए किस प्रकार उपयोगी है |)

जिस महिलाएं में नार्मल समस्या होती है उन महिलाओं को दवा और इंजेक्शन देकर ठीक किया जा सकता है इसके लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना होगा |

कभी – कभी यही समस्या दवा और इंजेक्शन से ठीक नहीं होती है जिसके वजह से सर्जरी का सहारा लेना होता है | इस प्रापर के सर्जरी दूरबीन द्वारा भी किया जाता है |

अगर कुछ स्थितियों में समस्या बढती है तो तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करें क्यूंकि अलग – अलग रोगी को विभिन्न प्रकार की दवईया होती है | अगर महिलाएं को पीरियड या संभोग करते समय अधिक दर्द होता है तो तुरंत डॉक्टर्स से सलाह ले |

Conclusion

वेबसाइटहिंदी.Com के पोस्ट में एंडोमेट्रियोसिस क्या है? महिलाओं में Endometriosis जैसी समस्या से छुटकारा कैसे पाये ? के बारे में फुल डिटेल्स शेयर किया गया है | आर्टिकल में यह भी बताया गया है की एंडोमेट्रिओसिस के कारण – Endometriosis Causes In Hindi और लक्षण क्या है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top