डाबर हनीटस मधुवाणी क्या है? Dabur Honitus Madhuvaani In Hindi

आज के वेबसाइटहिंदी के पोस्ट में Dabur Honitus Madhuvaani In Hindi के बारे में जानेंगे | पोस्ट में यह भी जानेंगे की डाबर हनीटस मधुवाणी के फायदे किस प्रकार है |

जब आप डॉक्टर के पास खांसी, सर्दी होने पर दिखाते है तो डाबर हनीटस मधुवाणी का उपयोग करने की सलाह दी जाती है | क्या आपको पता है इसका यूज कैसे करते है | अगर आप विस्तार से जानना चाहते है तो Website Hindi के पोस्ट पूरा पढ़ें |

dabur-honitus-madhuvaani-in-hindi

डाबर हनीटस मधुवाणी क्या है? – Dabur Honitus Madhuvaani In Hindi

हनीटस मधुवाणी एक आयुर्वेदिक औषधि है किसका उपयोग खांसी में किया जाता है | यह हर्बल गुणों से भरपूर है | यह डाबर कंपनी द्वारा निर्मित किया गया प्रोडक्ट है | इस दवा का उपयोग खांसी के अलांवा गले में जलन होने पर कर सकते है |

यह बच्चों तथा जवान को खांसी और सर्दी में राहत देने का काम करता है | जिस व्यक्ति को ज्यादा खांसी की समस्या होती है उन्हें अन्य दवाइयों के साथ  Dabur Honitus Madhuvaani का सेवन करना चाहिए | (इसे भी पढ़ें केसर खाने के फायदे हिंदी में)

होनिटस मधुवाणी में पाये जानेवाली सामग्री

Composition

सीतोपालादि चूर्ण (शारंगधर संहिता)Sitopaladi Churna (Basis Sharangdhar Samhita)28.00 G
इलाची (एलेटेरिया इलायची)Elaichi (Elettaria Cardamomum)500.00 Mg
वंसलोचन (बंबूसा अरुंडिनेशिया)Vanslochan ( Bambusa Arundinacia)770.00 Mg
दालचीनी (दालचीनी ज़ेलेनिकम)Dalchini (Cinnamomum Zeylanicum)390.00 Mg
मधुMadhu20.00 G
शकरकराSharkara25.50 G

 

Dabur Honitus Madhuvaani के फायदे |

  • गले में दर्द होने पर Honitus का सेवन करना चाहिए |
  • खांसी में होनिट्स उपयोग करें |
  • सर्दी-जुकाम में |
  • रेस्पिरेटरी डिप्रेशन में |

हनीटस का सेवन कैसे करें ? -How to consume Hannitas?

व्यस्क : बड़े व्यक्ति को एक-एक चम्मच दिन में तीन बार लेना चाहिए |

बच्चे: हाफ चम्मच दिन में दो बार लेना चाहिए | (इसे भी पढ़ें मैडिटेशन कैसे करें? Meditation करने के फायदे |)

लेने में कोई परेशानी आये तो गुनगुना पानी के साथ ले सकते है |

इसके अलांवा जरुरत के अनुसार डॉक्टर का सलाह भी लें |

डाबर हानिटस मधुवाणी का साइड इफ़ेक्ट

डाबर हानिटस मधुवाणी का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है | आप बिना परेशानी के सेवाम कर सकते है | पर ज्यादा समझने के लिए नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें | वो आपके स्थिति और बीमारी को देखते हुए सही परामर्श देंगे | (इसे भी पढ़ें तिल हटाने के घरेलू तरीके )

डाबर हानिटस मधुवाणी से संबंधित प्रश्न

(1.) क्या खांसी होने पर डाबर हानिटस मधुवाणी लेना चाहिए?

हाँ, जबतक खांसी ठीक न हो तबतक ले सकते है |

(2.) गले में जलन के लिए कितना सुरक्षित है ?

अगर आपको खांसी के साथ गले में जलन हो तो डाबर हानिटस मधुवाणी का सेवन जरुर करें |

(3.) क्या गर्भवती महिलाएं सेवन कर सकते है ?

यह गर्भवती महिला के स्थितियों पर निर्भर करता है बेहतर जानकारी के लिए नजदीकी डॉक्टर से सलाह करें |

(4.) क्या हनितुस का उपयोग स्तनपान कराने वाली महिलाएं कर सकती है ?

यह स्थितियों और बिमारियों पर निर्भर करता है | नजदीकी डॉक्टर से सलाह करें |

(5.) हनीटस का उपयोग कितने समय के लिए करना चाहिए ?

जबतक सुधार न हो तबतक सेवन कर सकते है |

Conclusion

वेबसाइट हिंदी के पोस्ट में Dabur Honitus Madhuvaani In Hindi के बारे में सरल भाषा में जानकारियां शेयर किया गया है | इसे सर्दी और खांसी में आसानी से सेवन कर सकते है |

मुझे उम्मीद है आपको पोस्ट पसंद आयी होगी | इसी तरह से उपयोगी लेख पढने के लिए Website Hindi का अन्य पोस्ट पढ़ें | अन्य तक जानकारियां पहुँचाने के लिए सोशल साईट पर शेयर करें |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top