websitehindi channel

बिजनेस पंजीकरण (Business Registration) कैसे करें | रोजगार के लिए रजिस्ट्रेशन करने का तरीका

Business Registration Kaise Hota Hai: आज के समय में बढती बेरोजगारी को देखते हुए रोजगार ही एक ऐसा बिज़नेस है जिससे जीवन में खुशियां मिलती है | इस बिजनेस में  आप जितना मेहनत करते है उतना या उससे ज्यादा कमाई हो सकता है |

ये जरुरी नहीं है की नौकरी के पीछे जाने से नौकरी मिल जाये परन्तु रोजगार करने से कम से कम बेरोजगारी दूर हो जाती है | आज के समय में जो युवक रोजगार करते है उन्हें कम से कम घर – परिवार के ऊपर निर्भर नहीं रहना पड़ता है |

business-registration-kaise-hota-hai copy
business-registration

बिजनेस रजिस्ट्रेशन क्या है? Business Registration Kya Hai In Hindi

किसी भी लघु उद्योग को आगे बढ़ाने के लिए हर शख्स की इच्छा होती  है की उनके बिजनेस के बारे में हर किसी को पता हो यानि की बिजनेस करने से पहले या बाद में सरकार को जानकारी देना होता है | इससे यह होता है की बिजनेस के रूप में आपका रोजगार सरकार के लिस्ट में शामिल हो जाता है और सरकार द्वारा जारी की गयी बिजनेस की योजना से लाभ मिल सकता है | (इसे भी पढ़ें उद्योग आधार का रजिस्ट्रेशन कर और सर्टिफिकेट पाए पांच मिनट में website hindi)

वही बिजनेस रजिस्ट्रेशन कराने से सरकार को पता चलता है की हमारे राज्य के जिला में रोजगार की संख्या कितने है | इससे कारोबारी से समय पर टैक्स लेने में परेशानी नहीं होती है |

ऑनलाइन / ऑफलाइन बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे करें? How To Register Business Online?

लघु उद्योग शुरू करने के बाद लोग इस बात से ज्यादा परेशान रहते है की वो बिजनेस के लिए पंजीकरण कहाँ से कराये | क्या बिजनेस रजिस्टर करने में बहुत दिक्कते होती है | तो आपको बता दूँ अगर आप किसी Business को Register करना चाहते है तो बहुत कम समयों में कर सकते है क्यूंकि यह बिलकुल आसान है | (इसे भी पढ़ें कोचिंग सेंटर का व्यवसाय शुरू कैसे करें?)

बिजनेस रजिस्ट्रेशन की प्रकार (Business Registration Type)

किसी भी बिजनेस को करने से पहले आपको यह जानना आवश्यक होता है की बिजनेस को शुरू करने के लिए कौन कौन सी रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता होती है | बिजनेस रजिस्ट्रेशन की प्रकार कितने है और पंजीकरण कहाँ से कराये |

अगर आपके मन में इस प्रकार के सवाल चल रहें है तो परेशान होने की आवश्यकता नहीं है | इस पोस्ट में पंजीकरण कराने से संबंधित कुछ Basic जानकारियां दी गई है जिसको पढ़कर मदद ले सकते है | (इसे भी पढ़ें Yelo App क्या है ? लोन और क्रेडिट कार्ड लेने के लिए किस प्रकार उपयोगी है |)

youtube विडियो देखें |

जिला के उद्योग कार्यालय में पंजीकरण कराना – Enroll In The District’s Industry Office

किसी भी स्वरोजगार करने से पहले सरकार को बताना होता है की आप रोजगार कर रहें है | अगर आप पंजीकरण कराते है तो आपको बहुत सारे कल्याणकारी योजना का लाभ मिलता है | इसके लिए  जिला उद्योग कार्यालय में जाकर लघु उद्योग  बिजनेस का पंजीकरण कराना होता है |

रजिस्ट्रेशन कराते समय कुछ डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है जो इस प्रकार है |

आधार कार्ड

एड्रेस प्रूफ (पहचान पत्र / निवास प्रमाण पत्र)

जिस कारोबार को शुरू करना चाहते हो उसका डिटेल्स और नाम

आय प्रमाण पत्र (ब्लॉक या दिल्ली हेड ऑफिस से बनाया जा सकता है)

निगम लाइसेंस – Corporation License

अगर आप जिला उद्योग में पंजीकरण करा चुके है तो निगम लाइसेंस बनवाने के बारे में सोंच सकते है | इस Licence को बनवाने के लिए ऑफलाइन / ऑनलाइन आवेदन Submit किया जाता है | (इसे भी पढ़ें आधार कार्ड पर कितने सिम एक्टिवेट है कैसे पता करे?)

उद्योग के लिए लाइसेंस बनवाने पर इस बात पर निर्भर करता है की आप किस चीज का उद्योग लगाना चाहते है | जिस उद्योग को आप लगाना चाहते है वह ऑनलाइन सर्विस प्रदान करती है या आप किसी प्रोडक्ट का Manufacture करने वाले है |

विभिन्न प्रकार के रोजगार के लिए कुछ नियम में बदलाव हो सकता है | निगम लाइसेंस लेने का मतलब है की आप किसी बिजनेस को शुरू कर रहें है |

निगम लाइसेंस बनवाने के लिए कुछ कागजात की जरुरत होती है जो इस प्रकार है |

जिला के उद्योग कार्यालय में रजिस्ट्रेशन कराने का प्रमाण पत्र

प्रोजेक्ट जिसमें लघु उद्योग के बारे में लिखा होता है |

उस जगह का विवरण जहाँ पर आप रोजगार खोलना चाहते है | अगर आप रेंट पर रहते है या खुद का जमीन है उसका मालिकाना कागजात

एनओसी (NOC)

किसी भी बिजनेस / कंपनी को शुरू करने के बाद कामगार की सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण होती है | कामगार की सुरक्षा के लिए सेफ्टी डिपार्टमेंट से एनओसी प्राप्त करना होता है | एनओसी काम करने वाले व्यक्ति के लिए सुरक्षा कवच होता है | इसे बिजनेस शुरुआत करने के 3 महीने के अन्दर No Objection Certificate (NOC) बनवा सकते है |

बिजनेस लाइसेंस प्राप्त करें |

लम्बे समय तक लघु उद्योग को चलाने के लिए जिले का लेबर डिपार्टमेंट से Business Licence प्राप्त किया जाता है | इस प्रकार के लाइसेंस बनवाने के लिए बिजनेस का Profile दिखाना होता है | (इसे भी पढ़ें Rooibos Tea क्या है? रूइबोस टी के फायदे और नुकसान हिंदी में !)

GST पंजीकरण कराएं|

आज के समय में कारोबारियों को GST रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य हो गया है | ऐसे से कई छोटे बड़े रोजगार के लिए GST रजिस्टर कर सकते है लेकिन कुछ शर्तों के अनुसार रोजगार में चालीस लाख का सालाना टर्नओवर होने पर जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना होता है |

निष्कर्ष (Conclusion)

वेबसाइटहिंदी.Com के पोस्ट में बिजनेस रजिस्ट्रेशन कैसे होता है? – Business Registration Kaise Hota Hai के बारे में सभी डिटेल्स शेयर किया गया है | अगर आप कोई रोजगार करना चाहते है तो ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से आधार उद्योग पंजीकृत कर सकते है |

मुझे उम्मीद है यह जानकारी पसंद आया होगा | दुकान का रजिस्ट्रेशन कैसे करें,ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें,दुकान का लाइसेंस कैसे बनाये,फर्म का रजिस्ट्रेशन कैसे करे,मसाला उद्योग रजिस्ट्रेशन,लघु उद्योग रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन को जानने के लिए अन्य पोस्ट पढ़ सकते है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top