websitehindi channel

बवासीर का ऑपरेशन कैसे होती है?

Last Updated on 7 months by websitehindi

विषय-सूची छुपाएँ
जानिए बवासीर की सर्जरी कैसे होती है?
बवासीर का ऑपरेशन कैसे होती है? जानने के लिए वेबसाइटहिंदी.कॉम का पूरा पोस्ट पढ़िए क्यूंकि इस पोस्ट में Piles का Operation करने का तरीका बताऊंगा | आइये जानते है Bawaseer Ka Operation क्यों कराना चाहिए |
जैसा की आप जानते है बवासीर सभी के अन्दर होता है किसी को कम तो किसी को ज्यादा | लेकिन इसको ठीक करने के लिए ऑपरेशन जरुरी नहीं है क्यूंकि बाजार में बहुत सारे जड़ी बुट्टी और होमियोपैथी दवाइयाँ है जिसका सेवन कर Bawaseer से छुटकारा प्राप्त कर सकते है |

बवासीर-का-ऑपरेशन

अगर आपके बवासीर के वजह से ज्यादा दर्द, खुजली, सूजन और रक्तस्त्राव होता है तो सर्जरी करा सकते है | परन्तु जरुरी नहीं है की जिस सर्जरी से बवासीर ठीक करने की कोशिश कर रहें है उससे 100% ठीक ही रहेगा | इसीलिए ऑपरेशन के प्रकार जानना आवश्यक है |

बवासीर की ऑपरेशन क्यों कराएं?

 

बवासीर होने पर गुदा से ब्लीडिंग ज्यादा होती है इसके अलांवा दर्द और सूजन रोगी को तकलीफ देती है इससे बचने के लिए बवासीर का ऑपरेशन करवाना जरुरी हो जाता है | (इसे भी पढ़ें Create New Ads Campaigns In Hindi – फर्स्ट काम्पैग्न्स क्रिएट कैसे करें?)

Bawaseer Ka Operation क्या है?

बवासीर में होनेवाली परेशानियों को रोकने के लिए ऑपरेशन सर्जरी और अन्य प्रकार के ऑपरेशन होना जरुरी होता है | इसमें गुदा से होनेवाली मल के रिसाव को रोका जाता है | इसमें तब खून आने लगता है जब धीरे-धीरे नसे बड़ी हो जाती है |
ऑपरेशनल कराने से तनाव, कब्ज, गुदा में खुजली, दर्द, गांठ का बनना, सभी समस्या से मुक्ति मिलना ही बवासीर का ऑपरेशन कहा जाता है | (इसे भी पढ़ें कच्चा या अधपका अंडा क्यों नहीं खाना चाहिए?)

जानिए बवासीर की सर्जरी कैसे होती है?

बवासीर में सर्जरी कराने का अनेक तरीका है जिसमें से किस एक का चयन कर Bawasir को ख़त्म किया जा सकता है जो इन प्रकार है |

(1.) स्टेप्लिंग हेमरॉयडेक्टमी – Stapled Hemorrhoidectomy

अगर आप कम परेशानी के साथ ओपरेशन की ओर जाना चाहते है तो यह आपके लिए अच्छा आप्शन हो सकता है | इस प्रक्रिया में बवासीर के मस्से को आसानी से स्टेपल कर दिया जाता है | इस प्रक्रिया को कम दर्दनाक होने के साथ अच्छा भी माना जाता है |
इस प्रकार के सर्जरी में रहत का अनुभव होता है क्यूंकि मस्सो तक खून की बहाव रुक जाता है | परन्तु इसमें बवासीर होने की संभावना बढ़ जाता है | यानि की आपको कभी भी बवासीर हो सकती है | (इसे भी पढ़ें Filmywap क्या है? Filmy-Wap से Movie डाउनलोड कैसे करें?)

(2.) ओपन हेमरॉयडेक्टमी – Open Hemorrhoidectomy,

जनरल एनेस्थीसिया का डोज रोगी को देकर बवासीर से मस्सों को काटकर हटाया जाता है | रोगी के स्थिति के अनुसार सर्जिकल कैची का इस्तेमाल कर ऑपरेशन किया जाता है | इसीलिए इसे बवासीर का पुरानी प्रक्रिया कहते है |
इस सर्जरी को ठीक होने में रोगी को महीनो तक इन्तेजार करना होता है | इसके स्थ उन्हें दर्द का भी अनुभव होता है |

(3.) लेजर सर्जरी – Laser Surgery In Hindi

रोगी को 30 मिनट के अन्दर आराम देनेवाली लेजर सर्जरी Advanced Category का सर्जरी है | इसमें रोगों के बवासीर के मस्सों पर लेजर बिमा को छोड़ते है | यानि की मस्सों को ख़त्म करने के लिए लेजर की किरणों का प्रयोग किया जाता है |
इसमें किसी भी प्रकार का रक्त निकालने की संभावना नहीं होती है | जब रोगी को ऑपरेशन हो जाये तो वह एक घंटे के अन्दर घर भी जा सकता है | इसके बाद नार्मल चलना , घूमना , ऑफिस जाकर जैसे सामान्य कार्यों को कर सकते है | परन्तु इस सर्जरी को कराने के लिए अधिक रकम की आवश्यकता होती है | (इसे भी पढ़ें जानिए जुड़वा गर्भावस्था के पहचान और लक्षण)

(4.) स्केलेरोथेरेपी – Sclerotherapy

इस प्रक्रिया में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है | इसमें इंजेक्शन की मदद से बवासीर के आन्तरिक मस्सों पर केमिकल लगाया जाता है | इसमें मस्से मुरझाने लगता है लेकिन समस्या तब होती है जब रोगी को फिर से बवासीर हो जाता है |

Conclusion

Websitehindi के पोस्ट में बवासीर का ऑपरेशन कैसे होती है? के बारे में डिटेल्स शेयर किया गया है | अगर आप बवासीर का ऑपरेशन कराना चाहते है तो इनमें से किसी एक का चयन कर सकते है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top