websitehindi channel

कंप्यूटर के 10 अजीब बातें जिसको कंप्यूटर यूजर को जानना चाहिए |

कंप्यूटर के 10 अजीब बातें जानने के लिए वेबसाइट हिंदी के पूरा पोस्ट पढ़िए क्यूंकि इस आर्टिकल में Computer से संबंधित दस ऐसी जानकारी दी गयी है जिसको जानना यूजर के लिए आवश्यक बन जाता है |

जैसा की आप जानते है आज के समय में कंप्यूटर और मोबाइल से हर काम होने लगा है | सॉफ्टवेयर से हार्डवेयर तक सभी काम कंप्यूटर के भरोसे होने लगा है | दुनियां में कंप्यूटर भले ही सब काम करता हो लेकिन चलाने के लिए एक ऑपरेटर की आवश्यकता होती है |

कंप्यूटर-के-10-अजीब-बातें

लेकिन आपको बता दू कंप्यूटर लेने के बाद कुछ ऐसी चीजे होती है जिसको समझना यूजर के लिए बहुत बड़ी पहल होती है | कंप्यूटर में क्या सच है और क्या झूठ , जानना आसान नहीं है |

कंप्यूटर के 10 अजीब बातें

कंप्यूटर के जगत में बहुत सारी बाते अजीब होती है जिसको लोग सच मानते है | अगर आपको नहीं पता है तो यह जानकारी जानना चाहिए |

(1.) कंप्यूटर और एंटीवायरस

कंप्यूटर को वायरस मुक्त बनाने के लिए लोग क्या – क्या नहीं करते है ताकि उनका कंप्यूटर फास्ट और बहुत दिनों तक चले | वैसे तो मार्किट में बहुत सारे अलग – अलग नामों से Antivirus मौजूद है लेकिन लोग अपने कंप्यूटर को सुरक्षित रखने के लिए सबसे महंगा वाला एंटीवायरस इंस्टाल करते है | (इसे भी पढ़ें कंप्यूटर, मोबाइल, एप तथा अन्य सॉफ्टवेयर अपडेट कैसे करें?)

क्या आपको पता है कंप्यूटर में Antivirus इनस्टॉल करने से 100% आपका कंप्यूटर Secure रहता है | ये सवाल हर कंप्यूटर यूजर के दिमाग में होता है | आइये जानते है इसकी सचाई क्या है?

एंटीवायरस की सचाई : जैसा की हम जानते है एंटीवायरस कंप्यूटर में वायरस जाने से रोकने के लिए बनाया गया है | लेकिन ये जरुरी नहीं है की एंटीवायरस से आपका कंप्यूटर 100 % फास्ट और सिक्योर रहेगा |

इन्टरनेट पर अलग अलग रूप में बहुत सारे वायरस Available है जिसको रोकने के बाद भी किसी न किसी तरीका से कंप्यूटर में घुस सकते है | आपको एक बात सोंचना चाहिए की क्या इतनी बड़ी माइक्रोसॉफ्ट विंडोज को एक छोटी सी सॉफ्टवेयर (कंपनी) वायरस मुक्त कर सकती है? क्या Microsoft के पास कोई तरीका नहीं है जिससे वो अपने Windows को सुरक्षित रख सके |

तो जबाब होगा हां, माइक्रोसॉफ्ट के पास फ्री का Microsoft Defender ऐसी सर्विस है जिसके मदद से महंगा वाले एंटीवायरस का मुकाबला किया जा सकता है |

इसके साथ – साथ कंप्यूटर यूजर को खुद कंप्यूटर को Secure रखना होगा | आपको इन्टरनेट पर ऐसे सॉफ्टवेयर या वेबसाइट से बचना चाहिए जो Computer को नुकसान पहुंचता है |

(2.) पुराना कंप्यूटर के बारे में |

अधिकतर यूजर के मन में यह बात घूमता है की पुराना कंप्यूटर धीमी गति से कार्य करता है | जिसके बाद उन्हें नए कंप्यूटर खरीदना पड़ता है और वे खरीद भी लेते है | इसका मतलब उन्हें पता नहीं होता है की Old कंप्यूटर को धीमा गति में चलाने का कारण क्या होता है |

अगर आपका कंप्यूटर पुराना है और धीमा गति से चल रहा है तो इसका मतलब कुछ और कारण हो सकता है | इसको ठीक करने के लिए हार्ड डिस्क को ठीक करने की जरुरत होती है | अगर आपके हार्ड डिस्क में ज्यादा डाटा Save है तो कम करें | जिससे आपका कंप्यूटर तेज कार्य करेगा |(इसे भी पढ़ें Keyboard Function Keys क्या है? कंप्यूटर कीबोर्ड फंक्शन कीज के बारे में पूर्ण जानकारियां हिंदी में !)

(3.) Windows अपडेट करना |

(कंप्यूटर के 10 अजीब बातें ) बहुत सारे यूजर के मन में यह सवाल होता है की माइक्रोसॉफ्ट द्वारा अधिसूचना आने पर तुरंत अपडेट कर लेना चाहिए वरना आपका कंप्यूटर Secure नहीं रहेगा तो ऐसा नहीं है | आप अपने जरुरत के अनुसार कंप्यूटर को अपडेट कर सकते है |

अगर आपके पास समय नहीं है तो यह अपडेट बाद में भी किया जा सकता है |

Notification के अनुसार अपडेट या Upgrade करने से यह फायदा होता है कि कई सारे न्यू Features आपके लैपटॉप / कंप्यूटर में ऐड हो जाते हैं | अब आप समझ गए होंगे की आप उसी Notification अपडेट को इनस्टॉल करें जिसकी जरुरत अनिवार्य है |

(4.) कंप्यूटर में Error फोल्डर -फाइल का होना |

अगर आप कंप्यूटर से किसी फोल्डर या फाइल को डिलीट कर रहे होते है और वह डिलीट ही न होता हो | जिसके बाद Error का Message दिखाई देता है | इससे यूजर के दिमाग में यह ख्याल आता है की कंप्यूटर में वायरस आ गयी है | (इसे भी पढ़ें शिक्षक पुरस्कार (National Teachers Awards) के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?)

कुछ यूजर के मन में भारी गड़बड़ी होने का कारण नजर आने लगता है | लेकिन ऐसी प्रॉब्लम से परेशान होने की जरुरत नहीं है | हो सकता है आपके लैपटॉप / कंप्यूटर का फाइल खराब हो गया हो | बहुत दिनों से फोल्डर में डाटा रहने से या एक ही ड्राइव में अधिक डाटा भर जाने से फाइल Craft कर जाती है | यही कारण है की आपके द्वारा फोल्डर मूव करने या डिलीट करने से Error Message Show होता है |

(5.) क्या लैपटॉप को चार्ज में हमेशा नहीं लगाना चाहिए |

बहुत सारे कंप्यूटर और लैपटॉप यूजर के मन में यह सवाल होता है कि लैपटॉप में ज्यादा देर तक चार्जर On रखने से बैटरी खराब हो जाती है तो ऐसा नहीं है | पहले के समय में लैपटॉप या मोबाइल में इस तरह की बैटरी होती थी जिसको चार्ज करते समय सावधान रहना होता था |

आज के समय में बैटरी और लैपटॉप में प्रोद्योगिकी का इस्तेमाल किया जा रहा है जिससे आपका बैटरी या लैपटॉप खराब नहीं होगा | आप अपने लैपटॉप को देखते हुए कभी भी चार्ज कर सकते है |

(6.) क्या कंप्यूटर को काम करने के बाद बंद कर देना चाहिए |

बहुत सारे कंप्यूटर यूजर के मन में यह सवाल होता है कि कंप्यूटर पर काम करने के बाद ऑफ कर देना चाहिए वरना आपका कंप्यूटर या लैपटॉप खराब हो जायेगा | अगर आपके मन में यह भावना है तो तुरंत निकाल दे | (इसे भी पढ़ें 10 फ्री फाइल मैनेजर एंड्राइड एप 2021)

कंप्यूटर में ऐसी System होता है जिसके वजह से लैपटॉप को ज्यादा देर तक खुला छोड़ देते है तो आपका लैपटॉप Sleep मोड में चला जाता है | इसके लिए मैन्युअल टाइम सेट किया जा सकता है | आप अपने इच्छा अनुसार एक घंटे, 30 मिनट, 15 मिनट तक समय सेट कर सकते है | उस निश्चित समय के बाद आपका कंप्यूटर स्लीप मोड में चला जाता है |

अगर आप कंप्यूटर को On करते है तो आपका कंप्यूटर वही से On होता है जहाँ से ऑफ हुआ था |

(7.) क्या बैटरी को कभी भी चार्ज कर सकते है?

बैटरी को चार्ज कब करें? क्या बैटरी Low होने पर ही चार्ज करना चाहिए? अगर आपके मन में इस तरह का सवाल होता है तो यह गलत बात है | बैटरी चार्ज करने के लिए कभी भी चार्जर से कनेक्ट कर सकते है |

पहले के अपेक्षा आज के समय में ऐसा सिस्टम लगा होता है जिसकी मदद से बैटरी खराब नहीं होता है  | चार्ज को 0 %, 20% 50%, 99% यानि की कभी भी चार्जर On कर सकते है |

(8.) डिलीट डाटा Recover करना |

क्या आपको यकींन है की डिलीट किये गए डाटा को फिर से वापस लाया जा सकता है? तो आपको बता दू कंप्यूटर से फोल्डर या फाइल को डिलीट करने के बाद डाटा Recycle Bin फोल्डर में चला जाता है | (इसे भी पढ़ें एलडीसी (LDC) क्या है? एलडीसी कैसे बनें – पात्रता, सैलरी और चयन प्रक्रिया)

कभी – कभी फोल्डर हमेशा के लिए डिलीट हो जाता है | जो फाइल  Recycle Bin में रहता है उसे खुद से रिस्टोर कर सकते है | लेकिन हमेशा के लिए डिलीट होनेवाला डाटा को एक्सपर्ट के मदद से रिकवरी सॉफ्टवेयर द्वारा Recover कर सकते है |

(9.) Spam ईमेल या Message का राज

बहुत लोगो के दिमाग में इस तरह का बात घूमता है की स्पैम मैसेज या ईमेल को Open करने से वायरस या अन्य खतरा बना रहता है तो यह गलत बात है | जैसा की आप जानते है ईमेल या Message बॉक्स के पास Spam नाम का भी एक फोल्डर होता है जिसमें स्पैम Message भरा रहता है |

आपको बता दूँ उस फोल्डर को Open करने से कुछ नहीं होता है | आपको यह तय करना है की कौन सी Message को पढना चाहिए | अगर आपको स्पैम ईमेल में Fake लिंक दिखाई दे तो क्लिक न करें | स्पैम फोल्डर में वही Message रहता है जिसको आपका कंप्यूटर जनता नहीं है |

(10.) Windows Active यूज करें या डुप्लीकेट

बहुत सारे लोगो के मन में यह धरना होता है कि लैपटॉप / कंप्यूटर में एक्टिवेट विंडोज नहीं रहने पर लैपटॉप अच्छा वर्क नहीं करता है | तो आपको बता दू अगर आपके पास एक्टिवेट Windows नहीं है तो परेशान होने की आवश्यकता नही है | (इसे भी पढ़ें बांस के फायदे और नुकसान)

क्यूंकि जिसके पास Active Windows होती है वह भले ही कुछ ज्यादा फीचर का इस्तेमाल करते हो लेकिन उनको बहुत सारे परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है | एक्टिवेट Windows को समय समय पर अपडेट करने की अधिसूचना प्राप्त होती है | या कभी – कभी Windows आटोमेटिक अपडेट होने लगता है |

वही स्टूडियो या ऑफिस में अधिकतर वैसी कंप्यूटर होती है जिसमें Windows 7 इनस्टॉल रहता है | क्यूंकि Windows 7 फास्ट और बिना अपडेट के चलने वाला Operating सिस्टम है | इसमें ज्यादा परेशानी नहीं होती है |

youtube विडियो देखें|

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल में कंप्यूटर के 10 अजीब बातें के बारे में बताया गया है? पोस्ट में यह भी बताया गया है की कंप्यूटर में किस चीज पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए | Computer Se Sanbandhit 10 Tricks जरुर पढ़ें |

मुझे उम्मीद है यह जानकारी  “कंप्यूटर के 10 अजीब बातें” आपको पसंद आयी होगी | अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगे तो Social Media साईट पर शेयर करें ताकि अन्य लोग भी  इस जानकारी को जान सके |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top