जानिए जुड़वा गर्भावस्था के पहचान और लक्षण

Last Updated on 1 year by websitehindi

जुड़वा गर्भावस्था के पहचान और लक्षण जानने के लिए वेबसाइटहिंदी.कॉम का पोस्ट पढ़िए | इस आर्टिकल में Judwa Bachche होने के Lakshan के बारे में बताया गया है |

जब महिला गर्भवती होती है तब मानसिक और शरीरिक रूप से बहुत सारे लक्षण दिखाई देतें हैं | पर कुछ लक्षणों से यह पता चलता है की जुडवा गर्भवस्था है या नहीं | परन्तु कुछ Lakshan शुरूआती दिनों में भी पता चल जाता है |

जुड़वा-गर्भावस्था

जिस घर में बच्चे की चाहत होती है उस घर में जुडवा बच्चे की लक्षण दिखाई दे तो ख़ुशी दुगनी हो जाती है | तो आइये Websitehindi.Com के पोस्ट में जानते है की Twin Pregnancy के लक्षण क्या है?

जुड़वा गर्भावस्था के सरल लक्षण – Simple symptoms of twin pregnancy

गर्भवस्था के दिनों शुरूआती लक्षण थकान, वजन में परिवर्तन और मतली जैसी परेशानियां होती है | जो इस प्रकार है | (इसे भी पढ़ें लाइन एप क्या है? विडियो calling, वौइस् कॉल तथा मेसेज फ्री में कैसे भेजें !)

  • इन दिनों गर्भवती महिला को अधिक भूख लगना |
  • ज्यादा मात्रा में उल्टी होना |
  • मतली होना |
  • वजन में परिवर्तन
  • स्तन का नाजुक होना |

गर्भवस्था के दिनों में जुड़वां बच्चों से संबंधित परेशानियां

(1.) समय से पहले प्रसव होना

कुछ मामलो में प्रसव के समय कुछ समस्या होने लगती है | दो बच्चे होने की वजह से समय से पहले डिलीवरी होने की उम्मीद बढ़ जाती है | इस तरह से समस्या आने पर शिशु की मृत्यु भी हो सकती है | (इसे भी पढ़ें दांतों में तार लगाने के फायदे व नुकसान !)

(2.) सिंगल फीटस डिमाइस

इस तरह की परेशानियाँ तब आती है जब गर्भ में एक बच्चा नुकसान हो जाता है | इसके बाद दुसरे बच्चे को जीवित रहना उसके गर्भ में रहने की उम्र पर निर्भर करता है | इसे ही सिंगल फीटस डिमाइस कहा जाता है |

जानिए कब चलता है जुडवा गर्भवस्था होने का पता

जुडवा बच्चे होने का ट्रिक्स टेस्ट के द्वारा तिमाही महीनो में पता लगाया जा सकता है | जो इस प्रकार है |

(1.) अल्ट्रासाउंड

अल्ट्रासाउंड के द्वारा गर्भवस्था में जटिलताओं के बारे में आसानी से समझा जा सकता है और यह भी पता लगाया जा सकता है की गर्भ में सिंगल बच्चा है या जुडवा | Judwa Garbhwstha के बारे में पता करने के लिए अल्ट्रासाउंड स्कैन करा सकतें है | (इसे भी पढ़ें B. Ve. Phos Children Homeopathic Health Tonic क्या है? उपयोग करने का तरीका !)

(2.) MRI स्कैन

अगर आप जुडवा बच्चे के बारे में पता करना चाहते है तो एमआरआई स्कैन जरुर कराये | ऐसा करने से गर्भवस्था के बारे में पता जरुर चल जाता है |

(3.) स्टेथोस्कोप

भ्रूण में दिल की धड़कने सुनने के लिए डॉक्टर स्टेथोस्कोप का इस्तेमाल करते है | इससे आसानी से पता लगाया जा सकता है की गर्भ में एक बच्चे है या एक से अधिक |

Conclusion

वेबसाइटहिंदी के पोस्ट में जुड़वा गर्भावस्था के बारे में पता लगाने से संबंधित जानकारियां शेयर किया गया है | अगर आप एक या एक से अधिक बच्चे के बारे में जानना चाहते है तो पोस्ट में बताये गए जांच के बारे में जरुर सोंचिए |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top