शपथ पत्र क्या होता है?

Last Updated on 3 months by websitehindi

Affidavit क्या है? शपथ पत्र क्या होता है? के बारे में जानकारियां जानना चाहते है तो इस पोस्ट को पढ़िए और जानिए Shapath Patra के बारे में पूर्ण जानकारी | इस आर्टिकल में यह भी बताया गया है की शपथ-पत्र बनाने का सही तरीका क्या होता है?

जैसा की आप जानते है आज के समय में सरकारी Vacancy, कोर्ट से प्रमाण पत्र बनाने में, स्कूल के कागजात में, किसी भी सर्विस से संबंधित दस्तावेज को Submit करने के साथ एक शपथ पत्र का मांग किया जाता है | अगर आपके पास शपत पत्र है तो आसानी से ऑफलाइन या ऑनलाइन एप्लीकेशन जमा कर सकते है |

शपथ-पत्र-क्या-होता-है

इसके अलावा सपथ पत्र कई प्रकार के होता है | अलग – अलग सपथ पत्र को अलग – अलग तरीका से बनाया भी जाता है | कुछ सपथ पत्र कोर्ट से जारी किया जाता है तो कुछ स्वयं कैंडिडेट द्वारा Shapath Patra लिखा जाता है | अगर आप जानना चाहते है की शपथ पत्र क्या होता है? तो वेबसाइटहिंदी.कॉम का पूरा पोस्ट पढ़िए |

शपथ पत्र क्या होता है?

एक ऐसा दस्तावेज जो लिखित होता है और जिसे शपथ कर्ता अपने सहमति से न्यायालय या मजिस्ट्रेट या शपथ पत्र अधिकारी के समक्ष प्रतिज्ञा देता है की उसके द्वारा लिखे गए सभी जानकारी सत्य है | अगर शपथ पत्र (Affidavit) में किसी भी प्रकार का गलती पाया जाता है तो वह स्वयं जिम्मेवार होगा |

शपत पत्र बनाने के लिए कचहरी या आदालत में जाना पड़ता है | अलग – अलग सर्विस के वजह से इसका प्रकार भी बदल जाता है | जरुरत के अनुसार आदालत में बनवाने के अलावा स्वयं भी लिखाकर Shapath Patra तैयार किया जाता है |

अगर आप ऑनलाइन किसी फॉर्म को भरते है तो एक सपथ पत्र Agree कराया जाता है जिससे पता चलता है की आपके द्वारा दिए गए सभी जानकारी सत्य है | सपथ पत्र अधिकारी या आपके द्वारा हस्ताक्षर या अंगूठे का निशान दिए जाने के बाद ही सत्य माना जाता है |

जानिए शपथ पत्र कितने प्रकार के होते हैं?

जैसा की आप जानते है किसी काम को कराने के लिए दस्तावेजो के साथ एक सपथ पत्र लगाना होता है | सपथ पत्र लगाने से यह पता चलता है की आवेदक द्वारा दिया गया जानकारी 100% सत्य है | वही शपथ पत्र की बात करें तो अलग – अलग विभाग द्वारा अलग – अलग तरह के Shapath बनाये जाते है |

सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों में जमा करने के लिए अलग प्रकार के दस्तावेज बनाया जाता है | आमतौर पर सरकारी व प्राइवेट कार्यालय में Shapat Patra दिया जाता है |

जैसे :-

राशन कार्ड बनाने के लिए , जन्म प्रमाण पत्र में, मृत्यु प्रमाण पत्र में, शादी, उम्र सुधरने में , क्रीमी लेयर प्रमाण पत्र बनाने में शपथ-पत्र दिया जाता है | यह शपथ पत्र लिखित रूप से होता है या किसी स्थिति में टाइप भी किया जाता है |

कुछ ऐसे Shapath-Patra होते है जो कोर्ट नायालय द्वारा जारी किया जाता है | इस तरह के पेपर को विभाग द्वारा ही जारी किया जाता है जिसमें शपथकर्ता का ही बात लिखा होता है | अगर किसी चेक को बाउंस कर दिया जाता है उस स्थिति में एक शपत-Patra की आवश्यकता होती है |

Shapath Patra कैसे बनवाएं?

Shapath Patra बनवाने के लिए अनेको माध्यम है जिसमें से आप अपने जरुरत के अनुसार प्रतिज्ञा दे सक्ते है | (इसे भी पढ़िए OBC Creamy Layer और Non-Creamy Layer में अंतर क्या है?)

एफिडेविट बनवाने के लिए अदालत, कचहरी , वकील , सरपंच, मुखिया का सहारा ले सकते है | लेकिन बात यह होता है की आपको किस टाइप का एफिडेविट बनवाने है | आप अपने आवश्यकता के अनुसार वकील से शपतपत्र जारी करा सकते है |

उदाहरण के लिए : अगर आप नॉन क्रीमी लेयर के लिए सपथ पत्र बनवाना चाहते है तो आपको बता दू आपको किसी भी पदाधिकारी के पास जाने की आवश्यकता नहीं है | इस तरह से ओबीसी Non Creamy Layer बनाने के लिए खुद से ही सपथ पत्र लिखना होता है |

वही वकील या किसी विभाग से यह दस्तावेज बनाना चाहते है तो आपको जरुरी कागजात के साथ कुछ फीस भी देने होते है | यह फीस अलग अलग विभाग के अनुसार कम या ज्यादा हो सकता है | अगर सपथ पत्र के बारे में डिटेल्स जानना चाहते है तो किसी वकील से मिलिए |

शपथ पत्र का उद्देश्य क्या है?

शपथ पत्र का यह उद्देश्य होता है की विभाग से आप जो बात कह रहे है वह पूर्ण रूप से सत्य है | अगर किसी भी प्रकार के गलत जानकारी पाये गए तो शपथ कर्ता पर कानूनी कारवाही भी हो सकता है | इसलिए किसी भी चीज के शपतपत्र बनाते समय सही – सही जानकारी भरिए |

ऐफिडेविट का यूज कोर्ट के अलावा नार्मल फॉर्म में भी किया जाता है | लेकिन फर्क इतना होता है की कोर्ट के पेपर पर टिकेट लगाये जाते है वही नार्मन शपत Patra को लिखकर हस्ताक्षर और मोहर किया जाता है |

शपथ पत्र बनाने के फीस

यह बात सही है की बिना पैसे के शपत Patra बनाना मुस्किल होता है | अलग – अलग राज्यों के अनुसार एक प्रकार का स्टाम्प डयूटी अधिनियम लागु होता है जो आपके पेपर पर 10 रुपये से 100 रुपये तक का स्टांप पेपर होता है | (इसे भी पढ़िए deled course में डायरेक्ट एडमिशन कैसे लें?)

शपथ पत्र किस भाषा में लिखें?

भारत के सर्वोच्च न्यायालय में शपथ पत्र अलग – अलग भाषा जैसे हिंदी या अंग्रेजी में लिखा जाता है | इन दोनो Language में लिखे गए शपथ पत्र वैलिड माना जाता है |

ओबीसी नॉन क्रीमी लेयर सर्टिफिकेट

यहां पर नॉन क्रीमी लेयर सर्टिफिकेट बनाने में यूज होनेवाला शपथ पत्र के बारे में डेमो फॉर्म दिया हूँ जो इस प्रकार है |

shapath-patra

Youtube विडियो देखिए |

 

निष्कर्ष (Conclusion)

वेबसाइटहिंदी.कॉम के आर्टिकल में Affidavit क्या है? शपथ पत्र क्या होता है? (Shapath Part Kya Hota Hai) के बारे में जानकारियां शेयर किया गया है | इस पोस्ट में यह भी बताया गया है की Shapath Patra कितने प्रकार के होते है और इनके फीस कितना होता है |

अगर आप सरकारी या प्राइवेट कार्यालयों में जमा करने के लिए Shapat Patra लिख रहे है तो आपको बता दू English Language और हिंदी भाषा का ही इस्तेमाल करें तो आपके लिए Best ऑप्शन हो सकता है | अगर आप डिटेल्स में समझना व जानना चाहते हो तो यूटूब विडियो जरुर देखिए |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top