nios deled assignments

course 501 Assignments 3 question 1with answer 1000 word

Nios deled Assignments course 501 का असाइनमेंट 3 का उत्तर 1000 शब्द में जानेंगे |
अगर आप लिखना चाहते है तो जल्दी कीजिये |

Nios deled Assignments

कोर्स 501 Nios deled Assignments 1 और 2 का का उत्तर हमने लिख दिया है |
अब असाइनमेंट 3 का उत्तर इस पोस्ट में लिखा रहा हूँ | आप इसे देखकर लिख सकते है |
इस प्रश्न का उत्तर हमने  सोंच और ज्ञान के माध्यम से लिखा है |
हो सकता है | आपका सोंच अलग हो |

Nios deled Assignments

और आप हमसे अधिक जानते है | तो आप उत्तर में बदलाव या खुद से लिख सकते है |
अगर आप इसे भी लिखेंगे | तो गलत नही होगा |
उत्तर को पूरा लिखिए क्यूंकि 1000 शब्द में लिखना है |

⇒ Nios deled Assignments course 501 1000 word

Nios deled Assignments

Q. 1 ) अपने आस – पास के कुछ विद्यालयों का दौरा कीजिए तथा बाल
अधिकारों के संरक्षण पर एक प्रतिवेदन तैयार कीजिए |
उत्तर :-  हमने अपने अस पास के कुछ विद्यालयों का दौरा किया | जिससे मुझे एक नही अनेक बाल अधिकारों के बारे में जानकारी प्राप्त हुआ | यूँ कहें तो बच्चे के अधिकारों को बहुत सारे तरीकों से परिभाषित किया जा सकता है | जबतक बच्चे व्यस्क नही होते तबतक सभी बच्चे को भारतीय बाल अधिकार के संरक्षण में रखा जाता है | जिनमे नागरिक सांस्कृतिक , आर्थिक सामाजिक , तथा राजनितिक , अधिकारों का एक ब्यापक स्पैक्ट्रम सम्लित होता है |  जहाँ तक मालूम है \ अधिकारों को दो सामान्य भागो में बटाजा सकता है | एक वे अधिकार जो बच्चे के कानून के अंतर्गत स्वायत व्यक्तियों के रूप में समर्थन करते है | तथा दुसरे वे जिनका उदेश्य बच्चो के उनपर किये जानेवाले अपराध / क्षति से बचाना है | जो समाज के कुछ लोग उनकी लाचारी के कारन उन पर करते है |  आइये जानते है | बच्चे के कुछ अधिकार |देश में बहुत ऐसे राज्य है | जिन्होंने बच्चे के अधिकार के रक्षा हेतू राज्य अस्ट्रिय आयोगों का गठन किया है | राज्य सरकार वहां ऐसा आयोग का गठन कर रही है | जिसे शिक्षा अधिकार परीक्षण अधिकार अधिकारिकी का नाम दिया जा रहा है | अत : एक अध्यापक के रूप में हमारा कर्तव्य बन जाता है | की शिक्षा के अधिकार अधिनियम , 2009 के उदेश्यों की प्राप्ति हेतू ईमानदारी और निष्ठां से काम करते रहे |

nios deled assignments

1.  सुरक्षा :-हमारे देश के सभी बच्चे को कुप्रयोग से उपेक्षा से शोषण से तथा भेदभाव से सुरक्षा का अधिकार है | इसमे बच्चो को खेलने के लिए सुरक्षित जगह / स्थान का अधिकार है | राष्नात्म्क पालन पोषण का अधिकार तथा बच्चो को विकाशशील योग्यताओ का अनुमोदन सम्मिलित है | 2.  प्रावधान :- बच्चो को उपयुक्त जीवन स्तर स्वास्थ्य और देखभाल शिक्षा तथा सेवाओ खेल तथा मनोरंजन के अधिकार है | इनमे एक संतुलित आहार सोने के लिए अच्छे बिस्तर तथा पढने के लिए विद्यालय में प्रवेश सम्मिलित है |  3.  भागीदारी :- बच्चो के जीवन में सामुदायिक भागीदारी और अपने लिए कार्यकर्मो और सेवाओ का अधिकार है | इनमे बच्चो का पुस्तकालय में तथा सामुदायिक कार्यक्रमों में सम्मिलित होना आता है | इसके अतिरिक्त बच्चो का निर्णय प्रकिर्या में सम्मिलित होना भी आता है | इसी प्रकार दी चाइल्ड राइट्स इनफार्मेशन नेटवर्क में बच्चो को अधिकार में बाटता है |

हमारे देश के कानून के अनुसार बच्चे के अधिकारों को दो भागो में बता गया है |

1.  आर्थिक सामाजिक तथा सांस्कृतिक अधिकार :- इनका सम्बन्ध उन अवस्थाओ से है | जो मानव की मूल आवश्कताओ जैसे – भोजन , आश्रय , शिक्षा , स्वास्थ्य तथा देखभाल तथा लाभकर निजोजन से है | इनमे कहाँ जा सकता है की उपयुक्त आश्रय भोजन जल , स्वस्थ स्तर के अधिकार , अल्पसंख्यको का अधिकार सम्मिलित है | 2.  पर्यावरण सबंधी , सांस्कृतिक तथा विकाशात्मक अधिकार :- इस अधिकार में बच्चे को स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण में रहने के लिए अधिकार दिया जाता है | तथा सांस्कृतिक , राजनितिक व आर्थिक विकाश के अधिकार दिया जाता है | वैज्ञानिक सामान्य व्यक्तिगत अधिकारों की पहचान कर बच्चो के अधिकारों पर बल देते है | आजकल बच्चो पर अत्याचार बढ़ गया है | हमारे देश में ऐसे अनेक अधिकार दिए गए है | जो देश के सभी बच्चो को मिले |
आज के समय में हम देखते है | छोटे बच्चो को अपहरण , मर पिट का मामला सामने आता है  | जो हमे आस – पास के बच्चे को स्वास्थ्य और सुरक्षा देने में मदद करना चाहिए | भारत के संबिधान के प्रावधानों के अनुसार शिक्षा संवारती सूचि में है | जैसा हम जानते है की शिक्षा देना राज्य तथा केंद्र दोनों सरकारों का संयुक्त दायित्व है | अत : इसके बित की यवस्था करना दोनों का उत्तरदायित्व है | जिससे शिक्षा का अधिकार अधिनियम के प्रावधानों को कर्यनिव्त कर सके | 6-14 वर्ष के बच्चो को नि शुल्क शिक्षा देना राज्य तथा केंद्र सरकार दोनों का सामूहिक दायित्व है | हमारे देश के बच्चो को यह भी अधिकार मिला है | की किसी भी बच्चे के साथ प्रारम्भिक शिक्षा के प्रतिपादन में कोई भेदभाव न हो | यह भी सुनिश्चित करे की प्रारंम्भिक शिक्षा को पूर्ति करने में उन्हें विद्यालय में सभी प्रकार कि ढांचागत तथा शक्षिक सुबिधाए उपलब्ध हो | उपयुक्त लेख में हमने प्राथमिक शिक्षा के अवधारणा तथा आवश्यकता पर चर्चा की है | जिसका अर्थ है प्रत्येक बच्चे को प्रारंभिक शिक्षा उपलब्ध करना | भारत के संबिधान के अनुच्छेद 45 में 6 से 14 वर्ष के बच्चे के लिए नि : शुल्क तथा अनिवार्य शिक्षा प्रदान करने का प्रावधान है | इस इकाई में इस अनुच्छेद में अन्य प्रावधानों पर चर्चा की गयी | सन 2002 में भारतीय संसद ने 86 वा संबिधान संसोधन किया | जिसके फलस्वरूप 4 वर्ष से 14 वर्ष के बिच प्रारंभिक शिक्षा को मूल अधिकारों के श्रेणी में डाल दिया गया |  इसीके लिए संबिधान में अनुच्छेद 21 ए जोड़ा गया | सन 1959 में संयुक्त राष्ट ने बच्चे के अधिकारों को घोषणा की थी | जिसमे जिन्दा रहने का अधिकार , नाम का अधिकार , राष्तियता का अधिकार , पोषण का अधिकार , अभिव्यक्ति का अधिकार , स्वास्थ्य और देखभाल का अधिकार , शिक्षा का अधिकार , सुचना का अधिकार , दुरूपयोग का अधिकार , शोषण से बचाव का अधिकार आदि सम्मिलित है |  सन 2009 में भारतीय संसद ने एक इतिहासिक अधिनियम पारित किया  जिसे शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 कहा जाता है | हमने इन शिक्षा के अधिकार अधिनियम के प्रावधानों का सविस्तार अध्ययन किया |
हम जानते है की भारतीय बालको को प्राथमिक शिक्षा पाने का अधिकार है | इसके लिए प्राथमिक शिक्षा नि : शुल्क होने के साथ – साथ अनिवार्य भी है | उच्च शिक्षा सभी के पहुँच के भीतर हो | शिक्षा का उपयोग मानव व्यक्तित्व सम्पूर्ण विकाश , मानवीय अधिकार , और बुनियादी स्वतंत्र रहने के लिए किया जाना चाहिए | यह माता – पिता को भी बनता है की बच्चे को अच्चा शिक्षा दे | शिक्षा से दूर रहने वाले बच्चो को गाँव और कस्बे में जाकर संबोधित किया जाना चाहिए | ताकि शिक्षा के अधिकार बच्चे को प्राप्त हो सके |  बाल मजदूरो के लिए शिक्षा एवं संयोजक कार्यक्रम , बालिका शिक्षा , शरीरिक व मानसिक रूप से विकलांग , सामिल है | बाल संरक्षण में हमे भी दायित्व बनता है | की उन सभी चीजो को जानना जो सांप्रदायिक हिस्सा , प्राकृतिक आपदा , दुर्व्यवहार शोषण , अशलील साहित्य , वेश्यावृति से बच्चे प्रभावित होते है | इसीलिए हमे उपचारात्मक सुझाव देना चाहिए | यही नही 1990 में संयुक्त राष्ट महासभा के शिखर सम्मलेन में भाग लिया था | इसमे बालक संरक्षण , तथा जीवित रहने  विकाश के सम्बन्ध  में एक घोषणा का अंगीकार है | बालक के अधिकार को सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार ने एक प्रोग्राम पहल की है | जो राष्टीय बालक चतर 2003 से है | इस तरह से हमारे राज्यों के अंदर बाल अधिकार बनाया गया है | जो प्रत्येक गाँव या विद्यालय में पढने वाले बच्चे को अधिकार दिया जा सकता है |  साल 2005 में भी कई अधिकार को बाल अधिकार के रूप में अपनाया गया था |

————————–——————-———————-

Nios deled Assignments course 501 1000 word अंतिम उत्तर

18 thoughts on “course 501 Assignments 3 question 1with answer 1000 word”

  1. 501 me assainment 3 de rakhe hai to hame question kon sa likhna hai
    501 ke 3 assainment main 6 question hai
    assainment 1 me 2 ass.2 me 2 ass.3 me 2

    phir aata hai 502

  2. DALCHAND prajapati

    सर हमारे असाइनमेंट बन गए है
    उन्हें हम कैसे डिज़ाइन करें
    कैसे उनकी फ़ाइल बनाएं
    और कहाँ जमा करे
    और कब तक
    बताने का कष्ट करें
    प्लीज् सर
    जिला सागर
    मध्यप्रदेश से हु सर में

  3. Sir maine dled course me admission liya he main phle se b.ed. kiya huwa he isliye me bridge course ka patra hun mujhe dled se bridge course me admission transfer krne ka liye kya krna hoga

  4. Sir maine dled course me admission liya he main phle se b.ed. kiya huwa hun isliye me bridge course ka patra hun mujhe dled se bridge course me admission transfer krne ka liye kya krna hoga

  5. Hi sir assignments k liye front page middle page or Last page jo file pr fill up krna jisme apni details fill krni h.. Wo page website m kha se milega.. Pls give me link ?

  6. Sir mrko 501 k school k bahr k bchon ka kiya arth k apne aas pass k kuch vidhaliyo ka dora kijiyga pararambhk shiksha k istr pr vidhaliye k bahr k bchon ki suchi tayyarojiyga sir isss question ka ans bta dijiyga mrko

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.