Evs Blueprint question paper पर्यावरण अध्ययन नीलपत्र इस तरह बनाइए

Evs Bluprint question paper पर्यावरण अध्ययन नीलपत्र इस तरह बनाइए (अगर आप ईवीएस के लिए ब्लूप्रिंट बनाना चाहते है तो इस पोस्ट को पढ़िए |

डी एल एड में कम से कम  चार विषय पर नीलपत्र बनाना हैं | पिछली पोस्ट में सभी subject पर ब्लूप्रिंट बनाने का तरीका बता दिया हूँ फिर भी कुछ कमेंट आने के कारण मुझे Evs Blueprint question paper पर्यावरण अध्ययन का नीलपत्र बनाना पड़ा |
इस पोस्ट को पढ़कर आप आसानी से पर्यावरण पर क्वेश्चन पेपर तैयार कर सकते है |
Dled Portfolio Format फॉर्मेट में पोर्टफोलियो का उत्तर इस तरह लिखिए

Evs Blueprint question paper पर्यावरण अध्ययन नीलपत्र इस तरह बनाइए

Evs Bluprint question paper

Evs Blueprint question paper पर्यावरण अध्ययन नीलपत्र इस तरह बनाइए

वार्षिक परीक्षा २०१८
विषय – पर्यावरण अध्ययन
कक्षा – 6
माह – अप्रैल
सेट 1
1 . सही विकल्प पर (√) का निशान लगाइए :-
(i ) हम सभी के घर में दैनिक जीवन में इस्तेमाल करने के लिए पानी  कहाँ से आता है ?
(क) कुआँ  (ख) तालाब (ग) चापाकल (घ) इनमे से सभी
(ii) सरकार ने पेयजल की उपलब्धता के लिए किस प्रकार की व्यवस्था की हैं ?
(क) हैण्डपप्म (ख) नहर (ग) तालाब (घ) कुआं
(iii) शहर में लोग दिनभर इस्तेमाल करने के लिए पानी कहाँ रखते हैं ?
(क) बाल्टी (ख) पोखर (ग) वर्तन (घ) टंकी
(iv) गांव में सिंचाई कैसे होती है ?
(क) नदी (ख) सोन (ग) नहर (घ) इनमे से सभी
(v) पानी का रंग कैसा होता हैं ?
(क) नीला (ख) सफेद (ग) लाल (घ) इनमे से कोई नहीं
2 . इन  प्रश्नो के उत्तर एक या दो शब्दों में दीजिए :-
(i) पानी नहीं होने पर क्या होगा ?
(ii) अधिकतर बाढ़ किस राज्य में आतें है ?
(iii) कोशी नदी कहाँ से निकलती हैं ?
(iv ) सुखे क्यों पड़ते है ?
3 . इन प्रश्नों के उत्तर 50-60 वाक्यों में दीजिए :-
(i) आपके अनुसार बाढ़ की स्थिति निपटने के लिए क्या – क्या करना चाहिए ?
(ii) हम पानी का उपयोग किन – किन कार्यो में करते है ?
—————————*—————————–*——————————*————————————–
इस तरह से आप Evs Blueprint question paper पर्यावरण अध्ययन नीलपत्र बनाकर तैयार कर सकतें है | अगर आपको यह जानकारी अच्छा लगे तो वेबसाइट हिंदी को सब्सक्राइब करे | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.