Deled Course 505 Assignment

Deled Course 505 Assignment 1 Question 1 With Answer

Deled Course 505 Assignment 1 Question 1 With Answer :- क्या प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन सीखना महत्वपूर्ण हैं ? अपने पक्ष में उचित उदाहरणों के सहायता से तर्क दीजिए |

हेल्लो मित्रो , websitehindi.com में आपका स्वागत हैं | डी.एल.एड कोर्स 504 असाइनमेंट का उत्तर वेबसाइट हिंदी पर पब्लिश हैं | आइये इस पोस्ट में Deled Course 505 Assignment 1 के पहला question का    उत्तर जानतें हैं |
इस लेख में प्रश्नों का उत्तर हम अपने ज्ञान और सोंच के अधार पर दे रहे हैं |
अगर आपको लगे की यह Answer सही नही हैं तो आप खुद सुधार या बदलाव कर सकतें हैं |
इसे भी असाइनमेंट कॉपी में लिखने पर गलत नही होगा |
कोर्स 504 505 का फ्रंट और बैक पेज डिजाईन pdf डाउनलोड करें |

 Deled Course 505 Assignment 1 Question 1 With Answer

Deled Course 505 Assignment 1 के पहला प्रश्न का उत्तर |

Q. 1) क्या प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन सीखना महत्वपूर्ण हैं ? अपने पक्ष में उचित उदाहरणों के सहायता से तर्क दीजिए |
उत्तर :-  प्राथमिक स्तर पर पर्यावरण अध्ययन सीखना महत्वपूर्ण हैं क्यूंकि घर या घर से बाहर बच्चे प्रयावरण में ही पलते-पढतें हैं | हमे और हमारे बच्चे को पर्यावरण से गहरा संबंध होता हैं | बिना पर्यावरण के जीना मुस्किल हैं | इसी के अंतर्गत बच्चे सिखतें हैं , इस पर आश्रित हैं , इसमे योगदान करतें है तथा इसे प्रभावित करते हैं |  जैसे की ये हमे प्रभावित करता हैं | ये प्रभाव हमारे जन्म के साथ ही शुरू हो जाता हैं तथा पूरा जीवन चलता हैं | बच्चे का संसार अपने शरीर के प्रति जागरूकता से शुरू होकर धीरे – धीरे फैलता हैं |बड़े होते चक्रों की तरह जिसमे निकटस्थ वातावरण , परिवार एवं घर से पड़ोस , विद्यालय तथा उसके पर की दुनिया होती हैं | अधिगम सबसे पहले तथा मुख्यत : घर तथा परिवार से शुरू होता हैं | जब बच्चा विद्यालय में प्रवेश ले लेता हैं अधिगम केवल विद्यालय में ही नही , घर तथा समुदाय में भी चलता रहता हैं |
बच्चे के आसपास का वातावरण एक संदर्भ हैं जिसके साथ बच्चा सबंध स्थापित करता हैं | इसमे भौतिक रचनाए तथा बाहरी स्थान नही होते बल्कि कहानियों , तयोहारो , गीतों तथा मेलो , परिवार एवं समुदाय के तयोहारो तथा अवसरों का सामाजिक एक सांस्कृतिक संसार भी होता हैं | निकटस्थ पर्यावरण के साथ अन्योन्य क्रिया के से सार्थक अधिगम होता हैं | हर दिन बच्चा प्राकृतिक पर्यावरण का अनुभव करता हैं | जैसे की ऋतुये गर्मी , बरसात , सर्दी , आकाश , सूर्य और चाँद , जल के विभिन्न आयामों का , पौधों तथा जन्तुओ का यह बहुत निराशा की बात हैं की बच्चे समय सरणी , गृहकार्य तथा परिक्षये के व्यस्त नित्क्रम में फंसे है उनके पास ये सब छानबीन कर अनुभव करने का समय और स्थान उपलब्ध नही हैं |
खासकर छोटे बच्चे को अपने आसपास के संसार को देखने और समझने की सवाभाविक इच्छा होती हैं |
यह बहुत आवश्यक है की उन्हें ऐसा पर्यावरण दिया जाए जो उनके
अधिगम में सहायक हो और उन्हें सिखने के योग्य बनाए |
राष्ट्रिय पाठ्यक्रम रुपरेखा 2005 (NCF 2005 ) ने इस लाजबाब अभिलक्षण एवं अवसर को स्वीकारा हैं |
इसीलिए प्रारंभिक वर्षो में अधिगम बच्चो की अभिरुचियों और प्राथमिकताओं के अनुसार होना चाहिए और बच्चो के अनुभव में संदर्भित होना चाहिए न की औपचारिक रूप से बनाया हुआ | बच्चो को समर्थ बनाने वाला वातावरण वह होता है जो बच्चो को विभिन्न प्रकार के अनुभाओ की दिशा में प्रेरित कर सके ,  जो बच्चो को कुछ करने और खुलकर अपने आप को अभिव्यक्त करने की अवसर प्रदान करें | साथ ही वह सामाजिक संबंधो में रचा बसा हो | जिससे उन्हें स्नेह संरक्षण एवं विश्वास की अनुभूति हो |
———————–*—————————–*——————————–*———————————
Deled Course 505 Assignment 1 Question 1 With Answer

14 thoughts on “Deled Course 505 Assignment 1 Question 1 With Answer”

  1. Sir ,, awaiting for assignment 505 …
    Need to submit in two days…
    Please post all answers …
    As soon as possible..

    Thank you so much..
    For the support..

  2. ??नमस्कार सर।।NIOS का Correction website बताये
    मोबाइल नंबर भी चेंज करना है…Plz

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.