niyojit shikshak

चार महीने से नही मिला नियोजित शिक्षक को वेतन – वेबसाइट हिंदी

Last Updated on 3 years by websitehindi

चार महीने से नही मिला नियोजित शिक्षक को वेतन – वेबसाइट हिंदी | बिहार राज्य में निवोजित शिक्षक को समय पर वेतन नही मिलने से परेशानी का सामना करना पड़ता है |

niyojit shikshak

परेशन है | नियोजित शिक्षक

सभी शिक्षक और शिक्षिका किराना दुकान से उधार राशन खरीदते है |यही नही समय पर राशन नही मिलने के कारन रुखा सुखा खाकर होना पड़ता है | यह परेशानी सभी नियोजित शिक्षक को हो रही है |बिहार सरकार हमेशा शिक्षको से अच्छा गुणवता पढाई खोजती है |
लेकिन वेतन समय पर नही देती है | और विभाग में प्रत्येक महीने वेतन बैंक अकाउंट में आ जाता है |लेकिन जिस चीज से बचो का फ्यूचर जुड़ा है | उस चीज पर सरकार का ध्यान नही है |सरकार को चाहिए की समय पर वेतन भुगतान करे |ताकि शिक्षक का परेशनी ख़त्म हो जाये |
कुछ नियोजित शिक्षक को वेतन नही मिलने से बहुत नर्भस है | एक तो सरकारी सर्विस के अनुसार वेतन कम है | ऊपर से समय पर पेमेंट नही होना | बड़ा मुस्किल है | जो शिक्षक गरीब परिवार से है | उनका परेशानी किसी भिखारी से कम नही है |
हमेशा न्यूज पेपर में पढने को मिलता है | शिक्षक का पेमेंट आ गया | अब मिलने वाला है | इसी के चलते सभी शिक्षक प्रत्येक महीने बैंक का चक्कर लगते है | अंत में कुछ नही मिलता है | हमेशा निराश होना पड़ता है |

बचो को पढने का किताब नही है |

परेशनी तो परेशानी होती है | स्कूल में बचो को सरकारी किताब भी नही मिलता है | सभी अच्छा बिना किताब के शिक्षा ग्रहण करते है | तो बताइए बिना किताब के पढाई कैसे हो सकता है | आस पास के लोगो को कहना है | सरकारी स्कूल पर सरकार का ध्यान नही है |
कहने का मतलब पहले पेड़ मजबूत होंगे तभी फल मिलेगा | सरकार से निवेदन है | बच्चो को पढाई के सामग्री समय पर मिले | ताकि वो अच्छा शिक्षा पाकर बिहार राज्य और देश का नाम उच्चा रहे |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top