bal vivah aur dahej pratha

आज से लिया जायेगा बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के लिए सपथ

Last Updated on 3 years by websitehindi

आज से लिया जायेगा बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के लिए सपथ » क्या आप इस तरह के अपराध को मिटाना चाहते है | तो आइये हम सभी एक साथ होकर देश को आगे बढ़ने में मदद करे |

bal vivah aur dahej pratha
बाल विवाह और दहेज़ प्रथा आज का नही है |
यह सिस्टम सदियों से चला आ रहा है |
हमारे देश में सभी भाई – बहन को एक साथ मिलकर सपथ लेना होगा |
आज के बाद ये अपराध कभी नही होगा |
इसके चलते देश में कितने ही बालिका और महिलाये दहेज़ खोरी के यहाँ जल रही है |
पिछले साल हमारा बिहार शराबबंदी से मुक्त हुआ था |
उसी प्रकार आज 2 अक्टूबर के दिन बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के लिए सपथ ग्रहण किया जायेगा |
बिहार के सभी विद्यालय खुले रहेंगे |
सभी बच्चे को इसके बारे में जानकारी दिया जायेगा |
की इस तरह का अपराध आगे से न हो |

bal vivah dahej pratha

♦ बाल विवाह और दहेज़ प्रथा से क्या समझाते है ?

बाल विवाह और दहेज़ प्रथा हमारे देश में सबसे बड़ा अपराध बन चूका है |

⇒ बाल विवाह –

बाल विवाह के बारे में तो आप जानते ही होंगे | ये ऐसी अपराध है |
हमारे देश के साथ – साथ पुरे विश्व में फैला हुआ है | जिसमे से भारत का दूसरा स्थान है |
भारत देश में 35 – 40 प्रतिशत बाल विवाह किया जाता है |
बाल विवाह का मतलब 18 वर्ष से पूर्व शादी के बंधन में बांध देना |
ये विवाह बिहार में सबसे अधिक होते है |
इसीलिए माननीय मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी ने 2 अक्टूबर (गाँधी जयंती ) को बाल विवाह और दहेज़ प्रथा से मुक्त होने का सपथ दिलाएंगे |
बाल विवाह निषेध अधिनिया 2006 के असितत्व में विवाह करने का उम्र बालिका को 18 वर्ष और वर को 21 वर्ष होना चाहिए |

⇒ दहेज़ प्रथा –

दहेज़ का मतलब है | विवाह के समय वर परिवार को वधु परिवार के तरफ से दान – दक्षिणा के रूप में सम्पति दिया जाता है |
यह भारत के अलावा विश्व के कई देश में दिया जाता है | कुछ लोग नगद रुपये लेते है | या महँगी वस्तुओ के रूप में दिया जाता है |
अगर बधू पक्ष , वर परिवार को सही समय पर दहेज़ के रूप में रुपये या वास्तु नही देने पर कन्या को नुकसान पहुचाते है |
इसके चलते प्रतिदिन बधू हत्या हो रहा है |
अगर वर या वधु परिवार दहेज़ लेता या देता है
तो दहेज़ निषेध अधिनियम १९६१ के अनुसार 5 वर्ष का कैद और 15000 हजार रूपया जुरमाना देना पड़ सकता है |
अब आप बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के बारे में समझ गए होंगे |
आज 2 अक्टूबर को सपथ लेकर इन सभी अपराधो से बिहार मुक्त होगा |
इसके प्रति हमारे देश के छात्र – छात्राये से की कमेंट के माध्यम से अपना विचार शेयर कीजिये | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top